Header Ads

सिफारिश वालों को दरकिनार कर कर्मठ पुलिसवालों के कंधे पर कानून व्यवस्था

दरोगाओं की शारीरिक क्षमता, मानसिक योग्यता और कार्यक्षमता का आकलन किया गया.

शारीरिक क्षमता, मानसिक योग्यता और कार्य दक्षता को दरकिनार कर, सिफारिश के बल पर कुर्सियों पर जमे पुलिस निरीक्षकों और दरोगाओं के दिन लद गये हैं। जिले की कानून व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए एसपी संतोष मिश्रा ने पुलिस बल में सिफारिश दरकिनार करते हुए गुणवत्ता के आधार पर दायित्व सौंपना शुरु कर दिया है। इस सिलसिले में उन्होंने पुलिस लाइन परिसर में दरोगाओं की शारीरिक क्षमता, मानसिक योग्यता और कार्यक्षमता का आकलन किया। उसके आधार पर वरिष्ठता सूची तैयार की तथा उन्हें उसी आधार पर कार्यभार तथा दायित्व सौंप दिया।

नवागत एसपी संतोष मिश्रा

कई ऐसे दरोगाओं को महत्वपूर्ण थानों तथा चौकियों का प्रभार सौंपा गया है जो अपनी क्षमताओं और योग्यताओं के मामले में उच्च स्तरीय थे लेकिन सिफारिशी पुलिस कर्मियों के कारण दायित्वहीन कर दिये गये थे। यही कारण था पूरे जनपद में कानून व्यवस्था चरमरा गयी थी।

नवागत एसपी संतोष मिश्रा ने कार्यभार ग्रहण करते ही कानून व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए प्रयास शुरु किये। उनके आते ही लोगों को राहत महसूस हुई। उनके द्वारा पुलिस मशीनरी का नये सिरे से ओवरहाल करना कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने में बहुत कारगर सिद्ध होगा। सक्षम, कार्यकुशल तथा बिना दवाब में काम करने वाले दरोगाओं और निरीक्षकों को वरीयता क्रम में दायित्व सौंपकर एसपी मिश्रा ने कानून और शांति व्यवस्था बनाने के लिए बहुत ही सूझबूझ का परिचय दिया है।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

गजरौला टाइम्स की ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए अपना इ-मेल दर्ज करें :

Delivered by FeedBurner