Header Ads

अमरोहा के पूर्व एसपी चिनप्पा ने 'वन विभाग का मामला’ कहकर फोन काट दिया

एस. चिनप्पा हाल में अमरोहा से स्थानांतरित होकर लखीमपुर खीरी पहुंचे हैं.

योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद पुलिस महकमे में खलबली मची हुई है। महकमा बेहतर तरीके से काम करे और जनता की समस्याओं को गंभीरता से सुना जाये इसके लिए मुख्यमंत्री ने पेच कसने शुरु कर दिये हैं। इसी सिलसिले में आईजी के रियलिटी चैक में कई जिलों के एसपी को परखा गया। कुछ खरे उतरे, तो कुछ नहीं। कई एसपी ऐसे थे जिनका फोन उनके पेशगार या गनर ने रिसीव किया या उन्हें थमा दिया गया। आईजी जोन ए. सतीश गणेश ने लखनऊ जोन के नौ जिलों के एसपी को अंजान नंबर से फोन किया था। वे फरियादी बनकर उनसे बोले।

अमरोहा के पूर्व एसपी चिनप्पा

अमरोहा के पूर्व एसपी शिवशिंपी चिनप्पा को भी फरियादी की कॉल आयी। कहा गया कि संपूर्णानगर के जंगल में कटाई चल रही है। चिनप्पा ने कहा कि यह मामला वन विभाग का है। बाद में फोन काट दिया गया। एस. चिनप्पा हाल में अमरोहा से स्थानांतरित होकर लखीमपुर खीरी पहुंचे हैं।

अमेठी के एसपी अनीस अंसारी ने तो अजीब तरह का जवाब दिया। फरियादी बनकर जब आईजी ने उनसे अपनी बात फोन पर कही कि उनके भाई को बदमाशों ने मार दिया है और उनकी जान को भी खतरा है, तो अनीस अंसारी ने गुस्से में कहा कि तुम पढ़े-लिखे नहीं हो क्या। उसके बाद फोन काट दिया।

अंबेडरकर नगर के एसपी पियूष श्रीवास्तव ने फरियादी की बात को सुना और कहा कि यदि जरुरी हो तो आज आओ, नहीं तो कल आफिस आना। वहीं उन्नाव की एसपी नेहा पांडे ने दो बार कॉल करने पर भी फोन नहीं उठाया।

जो लोग आईजी के इस टेस्ट में पास हुए उन्हें सम्मानित किया जायेगा जबकि जो फेल हुए हैं उनसे स्पष्टीकरण मांगा है।

-टाइम्स न्यूज़.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

गजरौला टाइम्स की ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए अपना इ-मेल दर्ज करें :

Delivered by FeedBurner