Header Ads

गंगा खतरे के निशान के करीब पहुंच रही है, प्रशासन सतर्क

हरिद्वार और बिजनौर बांध से पानी छोड़ा जा रहा है जिससे गंगा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है.

पहाड़ों पर हो रही बरसात से गंगा का जलस्तर बढ़ रहा है। इससे तिगरी और उसके आसपास के इलाके में खतरा पैदा हो गया है। पहाड़ी क्षेत्रों में पिछले कई दिनों से बारिश हो रही है। हरिद्वार और बिजनौर बांध से पानी छोड़ा जा रहा है। इस वजह से गंगा का जलस्तर लगातार बढ़ रहा है। इतवार में 43 क्यूसेक पानी गंगा में छोड़ा गया था जबकि शनिवार को 52 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया था।

tigri_ganga_flood

उम्मीद जताई जा रही है कि आने वाले समय में बरसात होते रहने से पानी और छोड़ा जायेगा। इससे गंगा का जलस्तर बढ़ेगा जो उसके आसपास बसे इलाके के लिए खतरा बन सकता है। हालांकि प्रशासन ने सतर्कता के साथ स्थिति संभालने की बात कही है।

रविवार की सुबह ब्रजघाट का जलस्तर 199.2 गेज मीटर दर्ज किया गया था। जबकि तिगरी की बात करें तो वहां 199.5 गेज मीटर जलस्तर रहा। शनिवार को पानी थोड़ा नीचे था। उसके बाद से वह बढ़ रहा है। गंगा खतरे के निशान के करीब पहुंच रही है।

ganga_tigri_flood

तिगरी गंगा किनारे से झोपड़ियां आदि जलमग्न हो रही हैं। पुरोहित और दुकानदार भी वहां से दूर सुरक्षित स्थानों पर जा रहे हैं।

खतरे का निशान यहां 200 मीटर से ऊपर है। तिगरी में यह 202.50 गेज मीटर है जबकि ब्रजघाट में 201.90 है। जैसे-जैसे बरसात होती रहेगी पानी का स्तर बढ़ता रहेगा। हरिद्वार और बिजनौर से पानी तटबंध पर दवाब के कारण छोड़ना मजबूरी है। इसलिए प्रशासन से सतर्कता बढ़ा दी है।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

गजरौला टाइम्स की ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए अपना इ-मेल दर्ज करें :

Delivered by FeedBurner