Header Ads

बहुरंगी सावन के सभी नज़ारे जनपद की फिज़ा में

जनपद अमरोहा की सभी सड़कों से भोले भक्त कांवड़ लेकर गुजरते देखे जा सकते हैं.

जनपद में सावन बहुरंगी हो गया है। इसी के साथ इसका प्रभाव भी अलग-अलग हिस्सों में भिन्न-भिन्न प्रकार का है। गंगा के तटवर्ती लगभग पांच दर्जन गांव बाढ़ जैसी स्थिति का सामना कर रहे हैं। वहीं गैर खादर क्षेत्र अर्थात रजबपुर केन्द्र माना जाये तो वहां से धनौरा, नौगांवा सादात, गजरौला, हसनपुर, रजबपुर और अमरोहा शहरों तक के रेतीले इलाके के लगभग तीन सौ गांवों में भारी वर्षा की दरकार है। जबकि अमरोहा से उत्तर-पूरब को निचले इलाकों के गांवों में पर्याप्त वर्षा हो रही है। यहां धान की बुवाई ज्यादातर हो चुकी है और खेतों में धान की फसल अच्छी दिखाई दे रही है। गन्ना लहलहाने लगा है।

savan_kanwar_yatra

जिले के शहरी क्षेत्रों की हालत वर्षा से अच्छी नहीं है। जगह-जगह जलभराव और कीचड़ की समस्या है। सबसे बुरा हाल अमरोहा तथा हसनपुर का है। अमरोहा में करोड़ों रुपये जलनिकासी के नाम पर खर्च हो चुके लेकिन जलभराव से नगर में हा-हाकार है। कई स्थानों पर थोड़ा बरसते ही भरा पानी सूखता ही नहीं और अब तो सावन है, ऐसे में क्या हाल होगा? कहने की जरुरत नहीं।

सावन माह भोले बाबा के लिए समर्पित है। जनपद की सभी सड़कों से भोले भक्त कांवड़ लेकर गुजरते देखे जा सकते हैं। प्रत्येक सोमवार को गंगा जल से शिव का जलाभिषेक किया जा रहा है। गजरौला से होकर गंगाजल लाने वाले भारी संख्या में गुजर रहे हैं। वास्तव में जनपद में सावन के कई रंग एक साथ दिखाई दे रहे हैं।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

गजरौला टाइम्स की ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए अपना इ-मेल दर्ज करें :

Delivered by FeedBurner