Header Ads

गंगा मेले के सरकारीकरण का चौतरफा स्वागत : लोगों ने मुक्त कंठ से मुख्यमंत्री योगी को सराहा

गंगा मेले की बेहतरी के लिए योगी द्वारा किये प्रयास को उनका सबसे अच्छा कार्य बताया.

कुंभ मेले की तर्ज पर गढ़मुक्तेश्वर और तिगरी में प्रतिवर्ष कार्तिक पूर्णिमा पर आयोजित होने वाला मिनी कुंभ (गंगा स्नान मेला) का आयोजन अब जिला पंचायत के बजाय राज्य सरकार करेगी। गंगा स्नान के लिए आने वाले श्रद्धालुओं की यह दशकों से की जा रही मांग पूरी कर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हकीकत में जन हितैषी कार्य किया है। इससे केवल उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि कई राज्यों के लोगों को लाभ होगा। इसका यहां सभी वर्ग के लोगों ने स्वागत किया है और मुख्यमंत्री की मुक्त कंठ से प्रशंसा की है।

gajraula_people

पूर्व जिला पंचायत सदस्य तथा भाजपा नेता चौ. वीरेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री को इसके लिए बधाई देते हुए कहा कि सदियों से लाखों लोगों की आस्था के इस मेले को सरकार द्वारा अपने प्रबंधन में लेकर जनहित का बड़ा काम किया गया है। इसके लिए मुख्यमंत्री बधाई के पात्र हैं तथा जनआकांक्षाओं को पूरा करने की उनकी प्रतिबद्धताओं का यह स्पष्ट प्रमाण है। गंगा स्नान पर्व देश, खासकर उत्तर भारत के किसानों, मजदूरों तथा गांव वासियों के लिए विशेष महत्व रखता है।

ज्ञान भारती इंटर कालेज की प्रबंध समिति के अध्यक्ष तथा सामाजिक सरोकारों के प्रति संवदेनशील व्यक्तित्व अरविन्द अग्रवाल गंगा मेले को सरकारी प्रबंधन में लेने से बहुत प्रसन्न हैं। उन्होंने कहा कि यह मांग हमारे जैसे बहुत से लोग दशकों से करते आ रहे हैं। सदियों से अपार श्रद्धा से मनाया जाने वाला गंगा स्नान पर्व जिन सुविधाओं का हकदार है उसे कभी नहीं मिल सकीं। उन्होंने मुख्यमंत्री के इस फैसले की सराहना की तथा आशा व्यक्त की कि अब यहां बेहतर व्यवस्था हो सकेगी।

ganga_river

मानवाधिकार सहित कई संगठनों से जुड़े डा. एलसी गहलौत ने कहा है कि जिला पंचायत अपने सीमित बजट तथा संसाधनों से मेले का उचित प्रबंध और जरुरी सुविधायें लोगों को नहीं जुटा पाता था। मुख्यमंत्री योगी जी ने इसे सरकारी मेला घोषित कर बहुत ही सराहनीय काम किया है। अब लोगों को बेहतर सुविधाओं की उम्मीद जगी है। उन्होंने मुख्यमंत्री को बधाई दी है।

कारमेल पब्लिक स्कूल के प्रबंधक बिक्रम सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि उन्होंने अल्पकाल में ही राज्य के लेागों के हित में कई कदम उठाये हैं जबकि गंगा मेले का सरकारीकरण पूरे उत्तर भारत के लोगों के हित में किया बहुत पवित्र और बड़ा काम है। भारतीय संस्कृति के प्रति योगी जी के लगाव का यह एक बड़ा प्रमाण है। गंगा भक्तों की ओर से उनका हार्दिक अभिनंदन।

भारतीय संस्कृति तथा धार्मिक परंपराओं के प्रति समर्पित तथा मंडी धनौरा स्थित जिंदल हॉस्पिटल के संस्थापक डा. बीएस जिंदल का कहना है कि वे दशकों से गंगा स्नान जैसे पवित्र मेले में पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की सुविधा तथा गंगा की स्वच्छता के लिए मेले के सरकारीकरण की मांग करते रहे हैं। मुख्यमंत्री द्वारा लोगों की यह मांग स्वीकार करने से उन्हें अपार प्रसन्नता हुई तथा योगी जी द्वारा किये इस ऐतिहासिक कार्य के लिए उनकी जितनी सराहना की जाये वह कम है। उनसे उम्मीद है कि इस बार के मेले को सुविधा सुलभ बनाने के लिए मेला प्रबंधतंत्र को जरुरी हिदायतें भी देंगे।

yogi_adityanath_ganga

शिक्षा, रियल स्टेट तथा सामाजिक संस्थाओं से जुड़े सोमवीर सिंह(गुरुजी) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को गंगा मेले की बेहतर व्यवस्था के लिए उठाये कदम का स्वागत करते हुए इसे ऐतिहासिक तथा पवित्र निर्णय करार दिया है। उन्होंने कहा कि गंगा स्नान का यह पर्व भारतीय सांस्कृतिक पहचान के साथ सार्वभौमिक हिन्दुवाद का जीवित प्रमाण है। गंगा स्नान में बिना किसी भेदभाव के आपसी सद्भाव के दर्शन होते हैं। गुरुजी ने कहा कि मुख्यमंत्री ने इस फैसले से केवल प्रदेश ही नहीं बल्कि करोड़ों भारतियों का दिल जीत लिया है। 

रामलीला, व्यापार संगठन तथा कई सामाजिक कार्यों में दिलचस्पी रखने वाले हंसमुख नवयुवक नवीन गर्ग, गंगा मेले में स्नानार्थियों को पर्याप्त सुविधायें न मिलने से काफी व्यथित रहते थे तथा वे कुछ सक्षम साथियों के सहयोग से जन सुविधायें जुटाने में भी संलग्न थे। मुख्यमंत्री के ताजा फैसले से वे संतुष्ट हैं तथा उन्होंने इसके लिए उनकी मुक्त कंठ से प्रशंसा की है। उन्होंने मेला प्रबंधन को सलाह दी है कि गजरौला से तिगरी तक रात में पथ प्रकाश की व्यवस्था हो जाये तो बेहतर होगा। नवीन गर्ग ने उम्मीद जतायी है कि नयी व्यवस्था से मेला सुविधाजनक तथा गंगा पर स्वच्छता बनाने में सहायक होगी।

पार्वती पब्लिक स्कूल की प्रधानाचार्या रेखा कश्यप ने योगी आदित्यनाथ के कदम की हार्दिक प्रशंसा करते हुए कहा कि योगी जी से उन्हें उम्मीद है कि गंगा स्नान अब महिलायें पहले से अधिक सुरक्षित और श्रद्धा के साथ कर सकेंगी। उन्हांने गंगा मेले की बेहतरी के लिए योगी द्वारा किये प्रयास को उनका सबसे अच्छा कार्य बताया, साथ ही उनकी दीर्घायु और प्रगति की कामना की। उन्होंने कहा कि वास्तव में महिलाओं में गंगा के प्रति सबसे अधिक श्रद्धा होती है। हम सभी को मुख्यमंत्री का आभार जताना चाहिए।

जानेमाने ट्रांस्पोर्टर तथा होटल व्यवसायी भगवान सिंह काले ने गंगा मेले की बेहतर व्यवस्था के लिए मुख्यमंत्री द्वारा उठाये कदम को जनहित का बड़ा फैसला बताया। उन्होंने कहा कि इससे जहां गंगा मेले में बेहतर व्यवस्था होगी वहीं गजरौला के लोगों तथा आसपास के गांवों के लोग भी लाभान्वित होंगे। भगवान सिंह ने कहा कि लंबे समय से लोगों की मांग को योगी आदित्यनाथ द्वारा पूरे करने की मुक्त कंठ से सभी को प्रशंसा करनी चाहिए।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

गजरौला टाइम्स की ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए अपना इ-मेल दर्ज करें :

Delivered by FeedBurner