Header Ads

'शराब की दुकान खुली तो किसी भी बड़े आंदोलन से पीछे नहीं हटेंगे लोग'

पूर्व चीफ फार्मेसिस्ट डाॅ. बुध्दि ने कहा कि शराब की दुकान हमारे मौहल्लों में बिल्कुल नहीं खुलने दी जाएगी.

मौहल्ला अतरपुरा व बैंक कॉलोनी के बीच स्थित रेलवे के पुल के नीचे के लोगों ने एक बैठक का आयोजन किया। बैठक में लोगों ने कहा की, यदि यहाँ पर शराब की दुकान खुली तो आंदोलन किया जायेगा।

बैठक में गंगासरन सिंह प्रजापति ने कहा कि यहां पर शराब की दुकान खोलने नहीं दी जाएगी। उन्होंने बताया कि यहां पर एक विशाल मंदिर है जिसमें पूजा अर्चना के लिए बहन, बेटियां जाती हैं जबकि तमाम छात्राओं का भी यहीं से गुजरना होता है।

budhi_singh_wine_shop_gajraula

लोगों का कहना है कि यह दलित बाहुल्य इलाका है इसीलिए यहां पर शराब नहीं खोलने दी जाएगी तो वहीं सभासद श्वसुर ऋषिपाल सिंह ने भी कहा कि जो कोई भी अपनी दुकान शराब विक्रेताओं को किराए पर अथवा बेचने की कोशिश करेगा उसका सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा।

सेवानिवृत्त चीफ फार्मेसिस्ट डाॅ. बुध्दि सिंह ने कहा कि शराब की दुकान हमारे मौहल्लों में बिल्कुल नहीं खुलने दी जाएगी और इसके लिए हम किसी भी बड़े आंदोलन से पीछे नहीं हटेंगे। साथ ही उन्होंने खोखों पर बिक रही अवैध शराब की बिक्री पर भी रोक लगाने की मांग की।

बैठक में शामिल महिलाओं ने भी हुंकार भरी कि शराब से इस दलित मौहल्ले के गरीब, मेहनतकश लोगों का जीवन नर्क बन जाएगा। इसीलिए शराब की दुकान का विरोध करने को महिलाएं चूल्हा-चौका छोड़कर धरने पर बैठेंगी।

इस दौरान महेश अग्रवाल, अरविंद कुमार यादव, लोकेश कुमार, पवन कुमार, खेम सिंह, प्रीतम प्रजापति, कुंता, भगवान देई, सावित्री देवी, विमलेश देवी, नेमवती देवी, रोहताश सिंह, पंकज कुमार, माया देवी, शिवचरन सिंह, राजकुमार, अतुल प्रजापति, रंजीत सिंह, संजय भारद्वाज, चमन खां, बबली भारद्वाज आदि मौजूद रहे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


Gajraula Times  के ताज़ा अपडेट के लिए हमारा फेसबुक  पेज लाइक करें या ट्विटर  पर फोलो करें. आप हमें गूगल प्लस  पर ज्वाइन कर सकते हैं ...

गजरौला टाइम्स की ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए अपना इ-मेल दर्ज करें :

Delivered by FeedBurner