Header Ads

विकास में सबसे पिछड़ गया हसनपुर

अमरोहा जिले की चारों विधानसभा क्षेत्रों में हसनपुर विधानसभा क्षेत्र विकास में सबसे पीछे रह गया है। अधिकांश गांवों में एक दूसरे को जोड़ने वाले मार्गों का बुरा हाल है। सड़कें टूटी—फूटी और इस हाल में हैं कि उन्हें सड़क कहना भी बेमानी ही होगा। अधिकांश सड़कें बनने के बाद ही टूट चुकी हैं। सपा के कद्दावर तथा सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव के बेहद चहेते राज्यमंत्री कमाल अख्तर का यह इलाका जिले का सबसे विकसित क्षेत्र होना चाहिए था।

अधिकांश गांवों में राशन वितरण का बुरा हाल है। सबसे अधिक शिकायतें जिला मुख्यालय और तहसील दिवस में इसी क्षेत्र की मिलती हैं। और निदान सबसे कम का होता है। चकबंदी में व्याप्त धांधली की शिकायतें भाकियू आयेदिन करती है, लेकिन सुधार होने का नाम नहीं लिया जाता। चोरी, लूट और दुष्कर्मों आदि के लिए भी यह इलाका कुख्यात होता जा रहा है। मांस विक्रेताओं ने क्षेत्र में गौ संकरण के लिए छोड़े गये तीन सांडों का एक—एक कर वध कर दिया। अपराधियों को बचाने में कुछ सपा नेता लगे रहे। इससे दुष्कर और क्या हो सकता है?

पुलिस वालों का कहना है कि नौकरी बचानी भारी पड़ रही है। अपराधियों पर शिकंजा कसते ही सपा नेताओं का दबाव पड़ना शुरु हो जाता है। विकास के दावे किये जा रहे हैं लेकिन क्षेत्र में घुसते ही झूठे दावों की पोल खुलने लगती है। गांवों के हालात बद से बदतर हैं। किसानों को उवर्रक तक नहीं मिलता। बिजली का बुरा हाल है। खादर क्षेत्र में सबसे बदतर हाल है।

-टाइम्स न्यूज़ हसनपुर.