Header Ads

तब हर आंख थी नम


gajendra-singh-kisan-suicide-in-delhi

आम आदमी पार्टी की रैली के दौरान पेड़ से लटककर जान देने वाले किसान गजेन्द्र सिंह का अंतिम संस्कार कर दिया गया। राजस्थान के दौसा जिले के नांगल झामरवाड़ा गांव में सुबह आठ बजे के आसपास गजेन्द्र सिंह का शव एंबुलेंस से उनके घर लाया गया। उसके बाद शन को स्थानीय शमशान घट ले जाया गया जहां भारी संख्या में लोग मौजूद रहे।

लगभग 10 बजे उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया। इस दौरान जय जवान, जय किसान आदि नारे भी लगते रहे।

वहां जितने भी लोग मौजूद थे उनकी आंखें नम थीं। हर किसी ने नम आंखों से गजेन्द्र सिंह को विदाई थी।

गजेन्द्र के पिता गश खाकर गिर पड़े थे। उनका परिवार सदमे में है।

गांव के लोग कह रहे हैं कि गजेन्द्र की मौत नहीं हुई, वे शहीद हुए हैं।


आम आदमी पार्टी देगी 10 लाख रुपये

आम आदमी पार्टी की ओर से मृतक गजेन्द्र सिंह के परिवार को 10 लाख रुपये देगी। पार्टी की ओर से कहा गया है कि वह हर संभव सहायता के लिए परिवार के साथ खड़ी है। गजेन्द्र का परिवार अकेला नहीं है।

-टाइम्स न्यूज़.