Header Ads

धूमधाम से मनाया श्री श्री रविशंकर का जन्मोत्सव

shri-shri-ravishankar-jindal-hospital

जिंदल हाउस धनौरा में आध्यात्मिक गुरु श्री श्री रविशंकर का 59 वां जन्मदिवस बहुत ही धूमधाम से मनाया गया।

इस अवसर पर जिंदल हॉस्पिटल के प्रबंध निदेशक डा. बी. एस. जिंदल ने आर्ट आफ लिविंग संस्था द्वारा किये जा रहे सामाजिक कार्यों के बारे में विस्तार से बताया।

उन्होंने कहा कि श्री श्री रविशंकर का जन्म 13 मई 1956 को दक्षिण भारत के तमिलनाडु राज्य में हुआ। तब से लेकर आज तक गुरूजी के नाम से लोकप्रिय श्री श्री ने विश्व भर के लगभग 165 देशों में आर्ट आफ लिविंग संस्था के माध्यम से हजारों लाखों  लोगों को जीना सिखाया। डा. जिंदल ने बताया कि श्री श्री का व्यक्तिव अपने आप में आदर्श हैं। वे सीधे सरल भाव में बिना किसी लाग लपेट के संवाद स्थापित करने में विशेषज्ञ हैं।

श्री श्री के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि सरल व्यक्तिव के साथ वे हमेशा मुस्कराहट बनाये रखने के लिए प्रेरित कराते हैं, जिसके बल पर व्यक्ति अपने आस पास की बड़ी से बड़ी कठिनाईयां को भी सरलता से पार कर जाता है।

आर्ट आफ लिविंग के मुख्य बिन्दु ’सुदर्शन क्रिया योग’ पर अब विश्व के अनेकों विश्व विद्यालयों में की गयी रिसर्च द्वारा सिद्ध हो गया है की सुदर्शन क्रिया के नियमित अभ्यास द्वारा कैंसर जैसी भीषण बीमारियों से भी बचा जा सकता है।

इस अवसर पर डा. दिलबाग जिंदल, कमलेश जिंदल, डा. राधा, डा. संदीप आर्य, डा. कृष्णदेव, डा.तान्या, मधुबाला, संजीव प्रधान, डा. संदीप तोमर, निधि, तथागत, आराध्य, अमायरा, भार्गवी, शिवानी आदि उपस्थित थे।

-टाइम्स न्यूज़ मंडी धनौरा.