Header Ads

बरसात के बाद अमरोहा की याद आती है

waterlog in amroha

अमरोहा मामूली बरसात में पानी से लबालब हो जाता है। ऐसा हर बार होता है। खराब हालात पर नगर पालिका परिषद में ठीकरे भी खूब फोड़े जाते हैं। पालिकाध्यक्ष से लेकर पालिका कर्मियों तक पर आरोप लगते हैं।

25 जून की बरसात में अमरोहा फिर से पानी-पानी हो गया। नाले उफन कर सड़कों तक आ गये। घरों, दुकानों आदि में गंदा पानी और कीचड़ भर गया। कुछ समय में ही शहर की तस्वीर बदल गयी।

नगर पालिका के इ.ओ. ने बरसात में हुई लापरवाही के लिए एक सफाई निरीक्षक से स्पष्टीकरण मांगा है। आरोप है कि मोहम्मद इकबाल नामक सफाई निरीक्षक ने अपनी जद में आये मोहल्लों की सफाई की जिम्मेदारी ठीक से नहीं निभाई।

इ.ओ. को लगता है कि इकबाल ने उनके निर्देश के बाद भी कल्याणपुर रोड के नालों पर लगे अवरोध नहीं हटवाये। इस कारण बरसात में वहां जलभराव की स्थिति पैदा हुई।

इकबाल को लापरवाही बरतने के संबंध में अपनी सफाई देने को कहा गया है। इ.ओ. की मानें तो दोषी पाये जाने पर सफाई निरीक्षक पर बड़ी कार्रवाई की जा सकती है।

शायद इ.ओ. यह भी जानते होंगे कि अमरोहा के दूसरे हिस्सों में भी जलभराव हुए हैं। बरसात से पहले चुप्पी साध कर बैठी पालिका को बाद में शहर की याद आती है। किसी तरह की कोई चुस्ती न पालिकाध्यक्ष दिखा पाते हैं, न ही इ.ओ. और अन्य कर्मी।

आगे फिर बरसात होगी। अमरोहा फिर बेहाल होगा। और यह सिलसिला इसी तरह चलता रहेगा।

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.

जरुर पढ़ें : पहली बरसात में ही करोड़ों का जल निकासी सिस्टम फेल