चेयरमैन और इओ के खिलाफ उग्र हो रहे गजरौला वासी

kamil pasha photo and harpal singh picture

जलभराव से परेशान कांशीराम कालोनीवासियों ने पिछले दिनों नगर पंचायत की बैठक के दौरान हंगामा खड़ा कर दिया। स्त्री-पुरुष बैठक कक्ष में जा घुसे जिन्हें देखकर अध्यक्ष हरपाल सिंह तथा मौजूद कर्मचारियों के हाथ-पांव फूल गये। किसी तरह सभासदों ने समझा-बुझाकर भीड़ को सभागार से बाहर किया। काफी मान-मनव्वल के पश्चात स्त्री-पुरुष वहां से जाने को तैयार हुए।

जैसे ही बोर्ड की बैठक शुरु होने वाली थी, तभी नगर पंचायत के खिलाफ कुछ लोगों की भीड़, जिनमें अधिकांश महिलायें थीं सभागार में घुस पड़ीं।

भीड़ नगर पंचायत के खिलाफ नारे भी लगा रही थी। लोगों ने चेयरमेन से कालोनी में जल भराव की शिकायत की। कालोनी के सामने की पुलिया कीचड़ व कचरे से बंद होने के कारण करीबी मुहल्ले का पानी पुलिया से पास नहीं होने के कारण कालोनी में भर गया। लोगों को भारी परेशानी थी।

लोगों ने बताया कि नालियों का गंदा पानी कालोनी में लबालब भरा है। शिकायत के बावजूद नाले-नालियां और पुलिया साफ नहीं की गयीं जबकि नगर पंचायत दावा कर रहा है कि नालों की सफाई हो चुकी। इस एवज में मोटी रकम भी निकाल ली गयी।

जरुर पढ़ें : गजरौला नगर पालिका बनने का रास्ता साफ

लोगों में इ.ओ. के प्रति सबसे ज्यादा आक्रोश था। चेयरमेन तथा कुछ सभासदों ने लोगों को किसी तरह समझाबुझाकर शांत किया तब वे वापस गये। इनमें मिथिलेश, नन्हीं, विमल, आशा, शांति, बीना, सतीश, अस्तूरी, पूरन, उस्मान तथा अनेक बच्चे भी शामिल थे।

दूसरी ओर जलाल नगर के दर्जनों लोगों ने भी बोर्ड की बैठक के दौरान मोहल्ले में गंदे पानी व कीचड़ भरे नालों की शिकायत की। उन्होंने बताया कि मोहल्ले के नाले—नालियां साफ नहीं की जातीं जिससे जल निकासी नहीं होती।

वार्ड सभासद जाफर मलिक की पत्नि हैं। दोनों में से कोई भी सुनवाई नहीं करता।

इन लोगों को भी बहकाकर भेज दिया लेकिन उन्होंने चेतावनी दी है कि समस्या का समाधान नहीं हुआ तो इ.ओ. तथा सभासद का घेराव किया जायेगा।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें. 


साथ में पढ़ें : बंद कमरे की बैठक में सब बदल गया

No comments