Header Ads

हेडमास्टरों पर क्या सख्ती कर पायेगा शिक्षा विभाग?

teacher-in-schools-of-amroha

लापरवाह हेडमास्टरों पर सख्ती की बात की जा रही है, लेकिन सवाल यह भी उठाये जा रहे हैं कि क्या यह संभव हो पायेगा?

खण्ड शिक्षा अधिकारी मुकेश कुमार की मानें तो यदि कोई शिक्षक कार्य के दौरान लापरवाह पाया गया तो उसके खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जायेगी। यह उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा।

मंडी धनौरा के ब्लॉक सभागार में मुकेश कुमार ने बेसिक विद्यालयों के हेडमास्टरों की बैठक की।

उन्होंने कहा कि हेडमास्टर शिक्षण कार्य में लापरवाही बरत रहे हैं। उनका काम पढ़ाने में कम घूमने में ज्यादा है। वे अकसर स्कूलों से गायब रहते हैं। अपने काम निपटाते हैं और शिक्षण कार्य की ओर उनका कोई ध्यान ही नहीं रहता।

जब प्रधानाध्यापक ऐसे कर रहे हैं तो उनके नीचे दूसरे शिक्षक भी उनका अनुसरण करते हैं। वे भी उसका लाभ उठाते हैं।

मुकेश कुमार ने कहा कि स्कूलों से गायब रहने वाले हेडमास्टरों की सूची तैयार करवाई जायेगी।

पिछले दिनों एक शिक्षक स्कूल जाने के बजाय डीएम कार्यालय में उनसे बतियाता मिला। उसने स्वयं को मीडिया से जुड़ा बताया हुआ था। बाद में उसकी असलियत मालूम होने पर उसे सस्पेंड कर दिया गया।

अधिकतर शिक्षक राजनीति करते हैं। वे शिक्षण कार्य नहीं करते बल्कि स्कूल में अपने साथी शिक्षकों से गप्पे हांक कर वापस घर लौट आते हैं। हालांकि शिक्षा विभाग ऐसे शिक्षकों से मुखातिब रहता है, लेकिन मिलीभगत के आलम में सब जायज है।

खंड शिक्षा अधिकारी की बात का कितना असर होगा यह किसी से छिपा नहीं है। क्योंकि पहले भी विभागीय अधिकारी शिक्षकों को चेतावनी दे चुके हैं, लेकिन उनका कुछ भी नहीं बिगड़ा।

-टाइम्स न्यूज़ मंडी धनौरा.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.