Header Ads

नीरज शर्मा प्रकरण : शिक्षण कार्य पर पड़ सकता है प्रभाव

neeraj sharma case

शिक्षक की पिटाई के बाद आरोपी पकड़ से बाहर हैं। इसे लेकर मध्यमिक शिक्षक संघ में काफी गुस्सा देखने को मिल रहा है।

पुलिस पर आरोप लगाये जा रहे हैं कि वह आरोपियों को बचाने में जुटी है, वरना वे कब के गिरफ्तार हो चुके होते। रविवार को घटित हुई इस घटना के कई दिन बीत जाने के बाद भी शिक्षक पर हमला करने वाले पकड़ में नहीं आ सके।

माध्यमिक शिक्षक संघ ने थानाध्यक्ष से मुलाकात की तथा इस मसले को गंभीरता से उठाया। साथ ही उन्होंने अपने स्तर से भी अध्यापकों की एक बैठक की जिसमें कई अहम मुद्दों पर बात की गयी। कहा गया कि यदि आरोपियों को पकड़ा नहीं गया तो वे काम नहीं करेंगे। इससे शिक्षण कार्य पर प्रभाव पड़ सकता है।

राष्ट्रीय इंटर कालेज के प्रधानाचार्य राजवंत सिंह तथा गांधी इंटर कालेज के प्रधानाचार्य महेश उपाध्याय ने इस घटना की कड़ी निंदा की है।

शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष गजेन्द्र पाल सिंह कालेज पहुंचे तथा पीड़ित शिक्षक का हाल जाना। उन्होंने नीरज शर्मा को भरोसा दिलाया कि सभी आरोपियों को पकड़ने की मुहिम में संघ उनके साथ है।
क्या थी घटना

मंडी धनौरा के राष्ट्रीय इंटर कालेज में शिक्षक नीरज शर्मा पर कुछ युवकों ने हमला किया था। इस दौरान उनके साथ मारपीट की गयी। उनके चेहरे पर कई चोटें लगीं।

यह घटना कुछ दिन पूर्व की है जब शिक्षक महादेव मंदिर के पास टहल रहे थे। तभी कुछ युवक आये और उनपर टूट पड़े। आसपास के लोग समझ पाते उससे पहले ही हमलावर चले गये।

ऐसा अंदेशा है कि जिन युवकों ने नीरज पर हमला किया था वे उसी कालेज के छात्र हो सकते हैं जिसमें वे पढ़ाते हैं।

-टाइम्स न्यूज़ मंडी धनौरा.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.