Header Ads

'शिक्षा और राजनीति से बदलाव की बयार' -नैपाल

nepal-rana-election

आजादी के सात दशक की लंबी अवधि में भी विकास से कोसों दूर एक पिछड़े समाज के उच्च शिक्षित नवयुवक ने युवा पीढ़ी के सहयोग से अपने समाज को विकास की राह पर लाने का बीड़ा उठाया है।

नैपाल सिंह राणा नामक यह नवयुवक खागी खड़गवंशी समाज से है तथा चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय से बीबीए, एलएलबी और एमबीए जैसे डिग्रियां हासिल कर जिला पंचायत के वार्ड-20 से जिला पंचायत सदस्य पद के उम्मीदवार हैं।

नैपाल सिंह राणा के मुताबिक उनके वार्ड में तिगरिया नादर शाह, दारियापुर तुगन, सांथलपुर, आदमपुर, शहबाजपुर ढोला, बागडपुर छोइया, शीतलासराय, दमगडा, पुरसल, बीझलपुर, सूवरा-भूवरा, इकौना, चकफेरी, माझरा, पथरा, काई-मलकपुर, जीवपुर, दढियाल, देहरी खादर, मुबारिजपुर कला-सलारा, गुरेठा, करनपुर खादर नामक सभी गांव खागी-खड़गवंशी बाहुल्य हैं।

एक तरह से ये इसी बिरादरी के गांव माने जाते हैं। जो भी प्रतिनिधि यहां से अबतक चुना गया उसने यहां के विकास की ओर ध्यान नहीं दिया। यही कारण है कि ये सभी गांव विकास की दौड़ में जिले के दूसरे गांवों से बहुत पीछे रह गये हैं।

एक तरह से माना जा सकता है कि यहां अभी विकास के प्रकाश की एक किरण भी दिखाई नहीं दी। सबसे बड़ी चूक यहां अशिक्षा है। अशिक्षित लोगों को बार-बार यहां वोट लेने के बहाने बहकाया गया है। शिक्षा के मूलभूत अधिकार से वंचित इस क्षेत्र के लोगों को पता ही नहीं कि उनके हक क्या हैं और उन्हें हासिल करने का तो फिर सवाल ही नहीं उठता।

नैपाल सिंह राणा का कहना है कि उनके साथ समाज के शिक्षित नवयुवकों की मजबूत टीम है जिसके सहारे वे अपने क्षेत्र के गांवों में बदलाव की बयार का प्रयास कर रहे हैं। इसके लिए उन तत्वों को यहां की राजनीति से बाहर खदेड़ना चाहते हैं जिन्होंने हमारे समाज को बंधुआ बना लिया और उनका अबतक शोषण किया है। पेशेवर राजनीति धंधेबाजों की दाल अब नहीं गलेगी।

राणा गांवों में भ्रमण कर अपनी टीम के साथ लोगों से लगातार संपर्क साध रहे हैं जिससे क्षेत्र में बदलाव की स्पष्ट आहट सुनी जा सकती है। लोगों को लगने लगा है कि उनके बेटे भी अब पढ़-लिखकर आगे बढ़ सकते हैं। ऐसे में हमें उन्हें मजबूती देनी चाहिए।

राणा ने कहा कि उनके कदम पीछे नहीं हटने वाले। वे अपने समाज के बदलाव के लिए बहुत कुछ करेंगे। यह चुनाव उसमें पहला कदम है।

जिला पंचायत चुनाव 2015 से जुड़ी सभी ख़बरें पढ़ें >>

-टाइम्स न्यूज़ हसनपुर.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.