Header Ads

दो दिन दो हादसे : गजरौला के उद्योगों पर सवाल

factory chemical accident

गजरौला में दो दिनों में दो गंभीर हादसे हुए। ये हादसे यहां की औद्योगिक इकाइयों में हुए। जुबिलेंट लाइफ साइंसेज लि. में कई लोग घायल हुए जबकि निर्मल फाइबर में हुए हादसे में एक मजदूर की मौत हो गयी। इन हादसों को छुपाये रखने पर भी सवाल किये जा रहे हैं।

गजरौला में हुआ दोनों हादसों पर पढ़ें विस्तार से -

जुबिलेंट में प्लांट में हुआ विस्फोट


गजरौला की जुबिलेंट लाइफ साइंसेज लि. नामक कैमीकल फैक्ट्री में रविवार शाम छह बजे एक प्लांट में विस्फोट के बाद छह कर्मचारी गंभीर रुप से घायल हो गये। इस हादसे से अंदर की एक दीवार ध्वस्त हो गयी तथा लिफ्ट को भी भारी क्षति पहुंची है। घटना से फैक्ट्री में घंटों अफरातफरी का माहौल रहा। दूसरे प्लांटों में काम करने वाले कर्मचारी भी इधर-उधर भागने लगे।

सुरक्षा अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुंच कर आनन-फानन में घायलों का प्राथमिक उपचार कराकर उन्हें मेरठ बेहतर चिकित्सा के लिए भेज दिया। जहां उन्हें आइसीयू में भर्ती कराया गया।

छुट्टी के कारण अपने आवासों पर आराम कर रहे प्रशासनिक अधिकारी भी मौके पर पहुंच गये। घटना की खबर फैक्ट्री से बाहर न जाये इसके पुख्ता इंतजाम किये गये। देर रात तक स्थिति को सामान्य बनाये रखने तथा हर खतरे से निपटने के लिए यूनिट हेड, मानव संसाधन विभाग तथा सुरक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक चलती रही। मीडिया को भी इस घटना का अगले दिल पता चला। यही कारण रहा कि दैनिक समाचार पत्रों में भी रविवार की शाम घटी यह घटना मंगलवार को पाठकों को पढ़ने को मिली।

हादसे में छह लोग घायल बताये जाते हैं। इनमें सभी कैमिस्ट हैं जिनमें जोगीपुरा निवासी सपा नेता तथा ब्लॉक प्रमुख पति कामेन्द्र सिंह के अनुज विवेक कुमार, तथा दूसरे प्रबल, भोलेनाथ, केसी शर्मा, शब्बन और वीर सिंह बताये जाते हैं। इन सब को गंभीर हालत में मेरठ के आनंद अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पांच कैमिस्ट कंपनी के नौकर हैं जबकि एक ठेकेदारी के जरिये कंपनी में सेवारत है। प्रबंधन केवल पांच ही घायल स्वीकार कर रहा है। उसका यह भी कहना है कि सभी कर्मचारी मामूली घायल हैं और जल्दी ही अस्पताल से घर आ जायेंगे।

एचआर हेड जेएल गुप्ता के मुताबिक एक ड्रम में विस्फोट से यह हादसा रुटिन प्रक्रिया के दौरान हुआ। यह मामूली हादसा था।

यह घटना जुबिलेंट के फाइन कैमिकल प्लांट में हुई। यह प्लांट नोबल पब्लिक स्कूल के पास है। हादसे के बाद धुंआ फैलकर स्कूल परिसर तक चला गया था। यह शुक्र था कि रविवार के कारण स्कूल बंद था।

निर्मल फाइबर में मजदूर मरा


राजमार्ग स्थित निर्मल फाइबर फैक्ट्री में कैमीकल के टैंक में गिरने से एक मजदूर की मौत हो गयी। दो दिनों में यहां की फैक्ट्रियों में यह दूसरा बड़ा हादसा है।

मृतक मजदूर के परिजनों को बहला-फुसलाकर पुलिस में मामला दर्ज न कराने को रोजी कर लिया गया। मृतक की पत्नि को तीन लाख रुपये तथा परिवार के एक सदस्य को नौकरी देने की शर्त मानी गयी है। वैसे हल्का दरोगा ने अपने स्तर से रिपोर्ट दर्ज कर मामले की छानबीन शुरु कर दी है।

जरुर पढ़ें : 

जुबिलेंट हादसे के बाद कैमीकल से झुलसे शव से शक गहराया

निर्मल फाइबर और टी.टी. में मजदूरों की जिंदगी का सौदा


यहां से लगभग 5 किलोमीटर मुरादाबाद की ओर राजमार्ग पर यह फैक्ट्री है। फैक्ट्री में दुघर्टनायें होती रहती हैं जिन्हें दबा दिया जाता है। दो दिन पूर्व भी एक मजदूर का हाथ कट गया था। वह खबर बाहर नहीं जाने दी। सुबोध नामक इस मजदूर के मरने की खबर भी दबाने की कोशिश की गयी थी। पहले बताया गया था कि किसी मजदूर को सांप ने डस लिया है। जबकि बिजली का करन्ट लगने से मजदूर टैंक में गिर गया था। जिससे उसकी मौत हो गयी।

सुबोध पुत्र जय सिंह हरिद्वार के दल्लावाला का रहने वाला था। वह सोमवार की सुबह छह बजे फैक्ट्री में मोटर चलाने गया था। वहां कैमीकल भरा एक टैंक भी था। बटन दबाते ही वह टैंक में जा गिरा। बटन में करंट आने से ऐसा हो सकता है। उसे वहां से निकालकर अस्पताल ले जाया गया। जहां उसकी मौत हो गयी। वह कुलदीप सिंह ठेकेदार के पास काम कर रहा था।

सूचना पर मजदूर की पत्नि मंशा तथा कई परिजन भी आ गये। जिनसे प्रबंधकों ने मुआवजे की बात कर उन्हें रिपोर्ट दर्ज न करने को राजी कर लिया।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.