Header Ads

वार्ड दस में बसपा सबसे दमदार, सपा संघर्षरत

bhupender-vedpal-election

वार्ड दस में जिला पंचायत चुनाव के उतार-चढ़ाव पर पूरे जिले के लोगों की निगाह है। इसका कारण चुनावी घोषणा के बाद से कई बार समीकरणों में बदलाव होता रहा है।

इस समय यहां बसपा उम्मीदवार भूपेन्द्र सिंह की स्थिति सबसे मजबूत दिखाई पड़ रही है। सपा से निकलने के बाद जब वह निर्दलीय चुनाव लड़ने को भी तैयार थे तो थोड़ी अनिश्चितता बन गयी थी लेकिन उनके बसपा उम्मीदवार बनने के बाद, वे यहां सबसे दमदार उम्मीदवार बनकर उभरे हैं।

उधर सपा द्वारा घोषित उम्मीदवार वेदपाल सिंह की स्थिति भी अच्छी लग रही है, लेकिन सपा को यहां न तो जाट और न ही जाटव समुदाय पसंद करता है। ऐसे में वेदपाल सिंह अपनी छवि के बल पर एड़ी-चोटी का जोर लगायें तो हालात बेहतर हो सकती है। जीत उनके लिए आसान नहीं।

भूपेन्द्र के पक्ष में यहां मजबूती के कारण हैं, वे लंबे समय से जाट+जाटव यहां का सबसे बड़ा वोट बैंक हैं। जिसमें भूपेन्द्र का बसपा के कारण अब ज्यादा हिस्सा हो गया है। ऐसे में उनकी मजबूती को नकारना नामुमकिन है। भाजपा अभी उम्मीदवार ही तय नहीं कर पायी।

अभी सारे उम्मीदवार मैदान में नहीं आये इसलिए केवल कयास ही लगाये जा सकते हैं, आरक्षण सूची के बाद जब सारे उम्मीदवार मैदान में होंगे तो यहां की तस्वीर काफी साफ हो जायेगी।

जिला पंचायत चुनाव 2015 से जुड़ी सभी ख़बरें पढ़ें >>

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.