Header Ads

कोर्ट के फैसले का स्वागत, शीघ्र लागू कराने की मांग

raja-sharma-and-jitendra-gajraula

शिक्षित युवाओं की एक बैठक में हाल ही में प्राथमिक शिक्षा के सुधार के बारे में आये इलाहबाद उच्च न्यायालय के फैसले का स्वागत करते हुए राज्य सरकार से उसे तत्काल लागू करने की मांग की है। साथ ही सभी लोगों से इसके लिए सरकार पर दबाव बनाने का आग्रह भी किया है। फैसले से गरीब-अमीर की गैर बराबरी में कमी आने का भरोसा हुआ है।

सभी में मौजूद ब्राह्मण सभा के जिलाध्यक्ष अजय शर्मा ने कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि उच्च वर्ग और सरकारी नौकरशाहों के बच्चे भी जब सरकारी प्राथमिक स्कूलों में पढ़ेंगे, तो इन स्कूलों की शिक्षा का स्तर सुधर जायेगा। सरकार को इसे शीघ्र लागू करना चाहिए।

भाजयुमो नगर उपाध्यक्ष राजा शर्मा ने कहा कि आजकल प्राथमिक शिक्षा का स्तर परिषदीय स्कूलों में बेहद दयनीय है। यहां पढ़ाने वाले शिक्षकों और शिक्षा विभाग के अधिकारियों के बच्चे कान्वेंट स्कूलों में पढ़ रहे हैं। इसी से पता चलता है कि यहां शिक्षा का स्तर कितना निम्नस्तरीय है। राज्य सरकार को कोर्ट का फैसला अविलम्ब करना चाहिए।

बीपीएड बेरोजगार संघ के जिलाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह उच्च न्यायालय का यह फैसला प्राइमरी शिक्षा के सुधार में एक क्रांतिकारी कदम है। इस फैसले की लंबे समय से दरकार थी। फैसला स्वागत योग्य है।

बैठक में कहा गया कि ग्रामांचलों में मौजूद इस तरह के स्कूलों की हालत बद से भी बदतर है। अध्यापक उन स्कूलों में जाना ही नहीं चाहते और पूरा वेतन ले रहे हैं। शिक्षा के नाम पर सरकारी खजाने की लूट के अलावा कुछ नहीं। जब सरकारी अधिकारियों के बच्चे भी यहां पढ़ेंगे तो वे स्वयं शिक्षा के सुधार करने को बाध्य होंगे। बैठक में राज्य के लोगों से सरकार पर दबाव बनाने का आग्रह किया गया।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.