Header Ads

नागपाल के आते ही वार्ड दस का ट्रैफिक घटने लगा

devendra-nagpal-image

जिला पंचायत के वार्ड दस से भूपेन्द्र सिंह अब निर्दलीय उम्मीदवार होंगे। सपा यहां से पूर्व सांसद देवेन्द्र नागपाल की धर्मपत्नि अंशु नागपाल को अपना उम्मीदवार बना चुकी है।

नागपाल ने चुनावी गतिविधियां तेज कर दी हैं तथा उनके समर्थक गांवों से चलकर उनके आवास पर पहुंचने शुरु हो गये हैं। इसी के साथ वार्ड के कई ऐसे संभावित उम्मीदवार बिल्कुल खामोश हो गये हैं जो पहले जोर—शोर से दावों और बयानबाजी में संलग्न थे।

अब केवल पायल चौधरी, भूपेन्द्र सिंह और शुभनीत सिंह ही चुनावी तैयारी कर रहे हैं। मंजीत सिंह का पता ही नहीं चल रहा। यह अजीब बात है कि जिस वार्ड में कुछ समय लगातार उम्मीदवारी का ट्रैफिक बढ़ रहा था वहां अचानक उसमें तेजी से कमी आयी है?

उधर भूपेन्द्र सिंह निर्दलीय उम्मीदवार की हैसीयत से चुनाव लड़ने का पक्का इरादा करके अपनी तैयारियों में जुटे हैं। भाजपा और बसपा भी नागपाल के सामने किसी मजबूत उम्मीदवार लाने की रणनीति में उलझ गये हैं।

भूपेन्द्र सिंह का कहना है कि वे इस प्रयास में हैं कि केवल एक ही उम्मीदवार सपा उम्मीदवार के सामने रहे लेकिन यह भला कैसे संभव हो सकता है? बसपा, भाजपा, रालोद, कांग्रेस जैसे दलों के अलावा निर्दलीय भी स्वेच्छा से मैदान में आ रहे हैं। यह तय है कि वार्ड दस का चुनावी दंगल सबसे दिलचस्प रहेगा।

जरुर पढ़ें : नागपाल के सहारे हिन्दू-मुस्लिम समीकरण साधने का प्रयास

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.