Header Ads

रोजगार में उपेक्षा से टेवा के खिलाफ युवकों का प्रदर्शन

teva-api-gajraula-image

टेवा एपीआई नामक इज़रायली दवा कंपनी के प्रबंधन द्वारा स्थानीय तथा क्षेत्रीय शिक्षित तथा प्रशिक्षित युवाओं को सेवाओं में लेने से इंकार तथा उनकी योग्यता पर उंगली उठाने से रोष है। आज लगभग डेढ़ सौ ऐसे ही बेरोजगार नवयुवकों ने फैक्ट्री गेट पर एकत्र होकर फैक्ट्री प्रबंधन के खिलाफ प्रदर्शन और नारेबाजी की तथा बाहरी युवाओं के बजाय स्थानीय युवकों को रोजगार में प्राथमिकता देने की मांग की।

जरुर पढ़ें : 'अयोग्य और अनपढ़ हैं अमरोहा जिले के नौजवान' -टेवा

नवयुवकों का कहना था कि हमारी भूमि पर स्थित उद्योगों में बाहरी लोगों को मालिक बना दिया गया है जो स्थानीय प्रशिक्षित नवयुवकों की उपेक्षा कर रहे हैं। नौजवानों से बात करने जब मुख्य सुरक्षा अधिकारी विचल सिंह गेट पर आये तो उनको नौजवानों के सवालों का जबाव देना भारी पड़ गया। जब नवयुवक नहीं हटे तो प्रबंधकों ने पुलिस बुलाली जबकि छात्र कुछ भी अव्यवहारिक नहीं कर रहे थे। बाद में आपस में बैठक कर सभी युवा वहां से चले आये।

teva-api-gajraula-picture

एक अन्य स्थान पर बैठक कर युवाओं ने एक सात सूत्रीय मांगपत्र तैयार किया, जिसमें स्थानीय बेरोजगारों को नौकरियों में प्राथमिकता देना, पिछड़े गांवों में विकास तथा स्वास्थ्य सेवायें मुहैया कराने के साथ सामाजिक कार्यों में यहां से होने वाली आय का एक भाग खर्च करना शामिल हैं।

teva-api-gajraula-nepal-rana

बैठक में वाटर डंपिंग बंद कराने पर भी विचार हुआ। नवयुवक जल्दी ही क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं को जोड़कर बड़ा संगठन खड़ा करेंगे। उसके बाद मजबूती के साथ ईमानदारी और मजबूती से अपने अधिकारों की लड़ाई जिसका पहला निशाना टेवा होगी।

इस अवसर पर नैपाल सिंह राणा, संदीप भड़ाना, जितेन्द्र चौहान, आशीष चौहान, मौ. नौशाद, आजम मेवाती, शनि, सतीश राणा, उपेन्द्र गुर्जर, रवि आदि मौजूद रहे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.