Header Ads

गजरौला नगर पंचायत में भ्रष्टाचार का बोलबाला

harpal-singh-gajraula-chairman

नगर पंचायत में सड़क निर्माण से लेकर पानी की टंकी तथा एलइडी लाइटों की खरीद में भ्रष्टाचार के आरोप और शिकायते हैं। पानी बेचने की भी खबरे हैं तथा नियम विरुद्ध ठेके देने के तो स्पष्ट प्रमाण हैं। इस तरह की शिकायतें आम जनता तथा सभासदों द्वारा भी की जाती रही हैं लेकिन कहीं, किसी सुधार के संकेत नहीं। विकास में भी भेदभाव बरता जा रहा है। इस सिलसिले में एक सभासद ने तेल छिड़क कर आग लगाने का प्रयास किया था। चेयरमेन तथा इ.ओ. दोनों मनमानी कर रहे हैं।

रेलवे स्टेशन के पास नगर पंचायत द्वारा लगायी पानी पीने की टंकी में या तो पानी आता ही नहीं, या गंदा पानी आता है। इस तरह की टंकियां नगर के अधिकांश वार्डों में लगी हैं।

सभासद अनिल कुमार अग्रवाल के अनुसार इनकी कीमत प्रति नग लगभग तीन लाख रुपये दिखाई गयी है। अधिकांश टंकियां लगने के एक-दो माह में ही जबाव दे गयीं। सभासद का कहना है कि ये लागत से बहुत कम और निम्न स्तरीय हैं। इसी कारण काम नहीं कर रहीं। इनमें लाखों का घोटाला हुआ है जो निष्पक्ष जांच में पकड़ा जा सकता है।

सभासद अनिल अग्रवाल के मुताबिक नगर में 200 एलइडी लाइटें लगायी गयी थीं। जिनमें से अधिकांश लगने के एक माह में ही खराब हो गयीं। इनके लिए 32 लाख रुपये निकाले गये जबकि ये दो-दो हजार से अधिक की नहीं हैं। ऐसे में ये दो लाख की ही बैठती हैं।

पीने के पानी में भी धांधली की खबरे हैं। बताया जाता है कि प्रतिदिन 15 से 20 टैंकर पानी बेचा जा रहा है। उसका पैसा किसकी जेब में जा रहा है? कोई पूछने वाला नहीं। एक कैंटर 300 से 500 तक में बिक रहा है। इस सिलसिले में कितनी रसीदे काटी जा रही हैं, जांच से पता चल जायेगा।

बिजली आने पर ही लोगो को पेयजल मुहैया कराया जाता है। यहां रखा जेनरेटर नहीं चलाया जाता जबकि कागजों में उसे प्रतिदिन चलाया जा रहा है। यह जानकारी ओवर हेड टैंक और नलकूप के पास रहने वाले दुकानदार भी दे रहे हैं। सभासद अग्रवाल का आरोप है कि नगर पंचायत में व्याप्त भ्रष्टाचार चरम पर है जिसके खिलाफ वे जल्दी नगर के जागरुक लोगों को साथ लेकर आंदोलन छेड़ेंगे।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.