panchayat-election-2015

जिला पंचायत के चुनाव में आरक्षण की मार ने कई उम्मीदवारों को जहां वार्ड बदलने को मजबूर किया है वहीं कुछ लोग बीडीसी में किस्मत आजमा रहे हैं।

भाजपा और बसपा के टिकट वितरण के बाद चुनावी हलचल में बदलाव होने वाला है। नामांकन प्रक्रिया के बाद दोनों चुनावों के उम्मीदवारों की जोर आजमाइश का आकलन शुरु होगा। फिलहाल चुनावी दंगल की तस्वीरें आयेदिन बदलाव में हैं।

वार्ड 11 से चुनाव लड़ने वाले कामेन्द्र सिंह, निरंजन सिंह और जाफर मलिक अब वार्ड 13 से अपनी किस्मत आजमायेंगे। यहां से नेशनल मेडीकल एजेंसी स्वामी अबरार अहमद और जिला पंचायत सदस्य विपिन चौधरी भी चुनाव लड़ रहे हैं। नौगांवा सादात के विधायक अशफाक खां के भाई भी यहां से उम्मीदवार थे लेकिन आरक्षण की मार ने उन्हें मैदान से बाहर कर दिया। संभव है विधायक सपा उम्मीदवार का चुनाव लड़वायें। यहां कुछ और उम्मीदवार भी लड़ने के इच्छुक हैं। वे भी जल्दी ही मैदान में आने वाले हैं।

जिला पंचायत चुनाव 2015 से जुड़ी सभी ख़बरें पढ़ें >>

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.


गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.