Header Ads

सपा जिलाध्यक्ष, साली और घरवाली फर्जीवाड़े में फंसे

vijaypal-saini

सपा जिलाध्यक्ष विजयपाल सैनी, उनकी पत्नि और साली के खिलाफ अदालत ने प्रमाणपत्रों के बल पर एक नौकरी करने का मामला दर्ज किया है। इस संबंध में छह अक्टूबर को वादी को अदालत ने हाजिर होकर बयान देने को तलब किया है।

उल्लेखनीय है कि हाल ही में मंडी धनौरा निवासी राजपाल सैनी की पत्नि सावित्री देवी ने एसीजेएम की अदालत में एक प्रार्थना पत्र दिया था। प्रार्थना पत्र देने वाले अधिवक्ता ने अदालत को अवगत कराया कि विजयपाल सैनी प्रभावशाली सपा नेता हैं। सत्तारुढ़ दल के जिलाध्यक्ष की ताकत का गलत इस्तेमाल करते हुए उन्होंने नूरपुर जिला बिजनौर निवासी अपनी साली जगवती के प्रमाण पत्रों पर अपनी पत्न केला देवी को 11.06.98 आंगनबाड़ी कार्यकत्री बनवा दिया। पत्नि का नाम भी बदलकर जगवती रख लिया। गत वर्ष भेद खुला तो तभी 11 अक्टूबर को उसका इस्तीफा दिलवा दिया। सावित्री देवी ने डीएम व तत्कालीन एमपी से भी शिकायत की। दोनों अधिकारी भी इस पर चुप्पी साध गये। कह दिया कि एसडीएम जांच करेंगे।

इस बार सावित्री के अदालत का दरवाजा खटखटाने से बात बनती लग रही है। क्योंकि अदालत ने वाद दायर कर वादी सावित्री को छह अक्टूबर को हाजिर होकर अपना बयान दर्ज करने का आदेश दिया है।

कई बार दागिल हुआ है सैनी का दामन

विजयपाल सैनी सपा में आने से पूर्व रालोद और बसपा में भी किस्मत आजमा चुके। उस समय वे अमरोहा स्टैंड के पास तेल की छोटी सी दुकान करते थे तथा तेल ब्लैक करने में कानूनी शिकंजे में भी फंसे। सपा जिलाध्यक्ष बनने के बाद उनके कई कारनामे जारी हैं लेकिन सत्ता के बलपर उन्हें कोई रोक-टोक नहीं। सावित्री देवी ने उनके एक कारनामे को उजागर कर साहस का परिचय दिया है। उन्हें सफलता भी मिलेगी। दागदार सत्ताधीशों को बेनकाब किया जाना जरुरी है।

-टाइम्स न्यूज़ मंडी धनौरा

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.