Header Ads

इस बार विरोधियों को चित करना चाहते हैं पहलवान

विरोधियों-को-चित-करना-चाहते-हैं-पहलवान

जिला पंचायत वार्ड-9 में दो गुर्जर नेताओं में जोरदार टक्कर है। इनमें ओमकार सिंह पहलवान सपा तथा नैपाल सिंह बसपा उम्मीदवार हैं। भाजपा ने अपना उम्मीदवार मैदान में लाने में देर कर दी। वैसे भी यहां के जातीय समीकरण उसके पक्ष में नहीं हैं।

2005 में हुए जिला पंचायत चुनाव में भी पहलवान ने किस्मत आजमाई थी लेकिन वे बहुत मामूली अंतर से पिछड़ गये थे। उस समय मतगणना में धांधली का भी उनके विरोधी पर आरोप लगा था।

इस बार खादर के इस वार्ड में मतदाताओं की आवाज ओमकार सिंह के पक्ष में दिखाई दे रही है। उनकी जनसंपर्क टीम का कहना है कि लोग पहलवान को जोरदार समर्थन दे रहे हैं। ऐसे में उनकी बड़ी जीत स्पष्ट दिखाई दे रही है।

उनकी सजातीय गुर्जर बिरादरी का झुकाव पूरी तरह उनकी ओर है जबकि सपा के परंपरागत अल्पसंख्यक मत स्वतः उनकी ओर हैं। सपा विधायक अशफाक खां भी वार्ड में उनके पक्ष में सभायें कर चुके। जबकि बसपा उम्मीदवार नैपाल सिंह भी प्रचार-प्रसार में लगे हैं लेकिन उनका खेल बनता नहीं लग रहा।

भाजपा नेताओं खासकर भाजपा सांसद कंवर सिंह तंवर द्वारा खादर की उपेक्षा के कारण यहां के लोग भाजपा के खिलाफ हैं।

वैसे भी नैपाल सिंह का कद पहलवान से कम ही आंका जाता है। नैपाल सिंह के कई समर्थक उनके प्रचार में जुटे हैं और जीत का भी दावा कर रहे हैं।

उधर भाजपा उम्मीदवार दानवीर सिंह खड़गवंशी भी जीत के लिए हाथ-पैर मार रहे हैं। देर से मैदान में आने का खामियाजा उन्हें मिलना हैं। 

मतदाता यहां पहले ही सपा और बसपा खेमों में बंट गये थे।

जिला पंचायत चुनाव 2015 से जुड़ी सभी ख़बरें पढ़ें >>

-टाइम्स न्यूज़ अमरोहा.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.