विजयपाल-सैनी

जिस व्यक्ति को गंभीर आरोपों के वावजूद समाजवादी पार्टी जिलाध्यक्ष के पद पर ढोती फिर रही थी। उसे जिला पंचायत चुनाव में पटखनी देकर जनता ने न्याय कर दिया। विजयपाल सैनी तेल की कालाबाजारी, एक झोलाझाप रिश्तेदार को बचाने तथा अपनी पत्नि को फर्जी कागजों पर नौकरी दिलाने जैसे आरोपों का सामना कर रहे हैं बल्कि इनमें से कुछ मामलों में हकीकत भी सामने आ चुकी, फिर भी उन्हें पद से नहीं हटाया गया।

वार्ड-7 से इस बार उन्होंने अपनी जगवती को जिला पंचायत का सपा उम्मीदवार बनवाया। ये वही जानती हैं जो पहले केला देवी थीं, जिन्हें सपा जिलाध्यक्ष ने जगवती नाम दिलाकर अपनी साली जगवती के कागजों पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता बनवा दिया और भेद खुलने पर त्याग-पत्र दिलाया। क्षेत्र के लोग सारा मामला जानते थे इसलिए शासन या प्रशासन से कार्रवाई न होने पर उन्होंने चुनाव में हराकर अपना फैसला दे दिया। अब सपा हाइकमान को जिले में पार्टी की साख कायम रखने को इस तरह के व्यक्ति को पदज्युत कर देना चाहिए।

जिला पंचायत चुनाव के विजयी उम्मीदवारों की पूरी सूची देखें >>

-टाइम्स न्यूज़ मंडी धनौरा.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.