Header Ads

उन्हें हमेशा याद रहेगा यह साल

amir-khan-silence-mood-poze

2015 बीत गया लेकिन फिल्मी सितारों के लिए कुछ कलाकारों को यह साल हमेशा याद रहेगा।

असहिष्णुता साल का सबसे बड़ा मुद्दा बना। इसे जमकर उछाला और उछालवाया गया। साहित्यकारों से शुरुआत होकर फिल्मकारों तक पहुंचा।

आमिर खान ने अपनी पत्नि किरण राव के विचार रखे तो देश में हंगामा खड़ा हो गया। जगह-जगह उनका विरोध हुआ। उनके पोस्टरों को सरेआम जलाया गया। टीवी चैनलों पर बड़े-बड़े डिबेट हुए। कहा गया कि इससे लोगों की भावनायें आहत हुई हैं।

कुछ कथित देशभक्त जाग उठे थे। उन्हें जैसे सांस आ गया था। वे चौंककर सड़कों पर घूम-घूमकर आमिर का विरोध करने में लगे थे। उनकी आने वाली फिल्म दंगल के प्रचार से भी कुछ लोगों ने इसे जोड़कर देखा।

शाहरुख खान की फिल्म दिलवाले रिलीज हुई तो कई शहरों में उसके शो रद्द करने पड़े। भाजपा के युवा मोर्चा के झंडे लेकर गिनती के लोग सड़कों पर उतरे। फिल्म के पोस्टर फाड़े और खान का विरोध किया। एक-दो दिन के मामूली शोर के बाद सब शांत हो गया।

खान की फिल्म को पब्लिसिटी दिला दी उनका विरोध करने वालों ने। फिल्म अच्छा कारोबार करने में सफल रही। विदेशों में उसे इसलिए ज्यादा देखा गया कि आखिर विरोध क्यों हो रहा है?

सलमान खान को तो हिट एंड रन केस में कोर्ट ने बरी कर दिया, लेकिन उनकी छवि पर इससे एक बार फिर बट्टा लगा। न्याय व्यवस्था पर भी सवाल खड़े हुए।

देखते हैं अगले साल सितारों के सितारे क्या गुल खिलाते हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.

Mail us at : gajraulatimes@gmail.com