Header Ads

कागजी अलाव से शीत का बचाव

alav-fire-on-roads-winter

भीषण सर्दी के प्रकोप के बावजूद नगर पालिका में चन्द स्थानों पर ही अलाव का प्रबंध किया गया है। जबकि लोग रात में ठंड से ठिठुरते फिर रहे हैं।

गजरौला ऐसे स्थान पर स्थित है जहां चौबीस घंटे निर्बाध रुप से यात्रियों का आवागमन जारी रहता है। रेल और सड़क मार्ग भी चारों दिशायें में जाते हैं। यात्रियों का भारी जमावड़ा रहने के कारण चौराहों पर रात में भी भीड़ रहती है। वाहनों के इंतजार में खड़े लोग भीषण सर्दी में ठिठुरते देखे जा सकते हैं।

यहां थाना चौराहा, खादगूजर चौराहा, रेलवे स्टेशन, बस्ती, चौपला, आदि कई स्थान ऐसे हैं जहां अलाव की सबसे ज्यादा जरुरत है।

यहां थोड़ी देर एक-दो स्थानों पर अलाव जलाकर पालिका अपने कर्तव्य की इतिश्री मान लेती है।

प्रतिवर्ष अलाव खर्च कागजों में बढ़ाया जा रहा है। जबकि हकीकत में ऐसा नहीं है।

नगर के जागरुक लोग जिनमें सोनू कश्यप, डा. एलसी गहलौत, विरेन्द्र सिंह, रामकृष्ण चौहान, सूरजभान गोयल तथा डा. नासिर आदि ने पालिका अध्यक्ष हरपाल सिंह से मांग की है कि जरुरी स्थानों पर पूरी रात अलाव जलाये जायें।

-टाइम्स न्यूज़ गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.