Header Ads

चरण सिंह जयंती के मौके पर तोड़ दिया उनके नाम का द्वार

charan-singh-dwar-gajraula

जहां पूरे देश में पूर्व प्रधानमंत्री चौ. चरण सिंह की जयंती पर उनका भावपूर्ण स्मरण कर विभिन्न वर्गों से जुड़ी हस्तियां उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित कर रही थीं। वहीं देश की राजधानी से सौ किलोमीटर दूर दिल्ली-लखनऊ हाइवे पर बसे नगर गजरौला में पुलिस द्वारा चौ. चरण सिंह द्वार तोड़कर उसके अवशेष थाने में डाल दिये गये।

कुलदीप सिंह नामक एक रालोद नेता द्वारा विरोध करने पर उसे भी वहां से हटा दिया गया। इस समाचार से चरण सिंह समर्थकों में भारी रोष व्याप्त है तथा वे धीरे-धीरे घटना के खिलाफ लामबन्द होने शुरु हो गये हैं।

file-photo-of-charan-singh-gate-in-gajraula
चौ. चरण सिंह द्वार का फाइल फोटो.

रालोद नेता कुलदीप सिंह, सचिन चौधरी और अजय गिल ने इस घटना को किसान विरोधी तथा बहुत ही निन्दनीय करार दिया है। इस घटना में नगर पंचायत प्रशासन और पुलिस की मिलीभगत माना जा रहा है। बताया जाता है कि मनोनीत सभासद जिताम्बर यादव तथा उनके साथी तीन साल पूर्व थाना बस्ती रोड पर बने चौ. चरण सिंह द्वार को हटाकर किसी और के नाम से बनवाना चाहते थे। इसे लेकर उन्होंने पालिका बैठक में बहस भी की थी। चरण सिंह समर्थकों का आरोप है कि यह सब इसी तरह के तत्वों की कारगुजारी है।

जरुर पढ़ें : चौधरी को यह कैसी श्रद्धांजलि?

कुछ लोगों ने वरिष्ठ सपा नेता राहुल कौशिक का इस में हाथ होने का आरोप लगाया है, लेकिन कौशिक ने इससे स्पष्ट इंकार करते हुए कहा है कि वे किसी भी तरह के द्वार के लगाने या हटाने से बिल्कुल अलग हैं। उन्हें इस बारे में कुछ भी मालूम नहीं।

उधर पालिकाध्यक्ष हरपाल सिंह नगर से बाहर हैं तथा उनका फोन प्रायः मतलब की बात ही सुनता है। इसलिए उनकी प्रतिक्रिया नहीं मिल सकी। पुलिस का कहना है कि गेट बिना स्वीकृति के लगा था जिसे हटा दिया गया।

-टाइम्स न्यूज गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.