Header Ads

एक माह बाद भी अपराधियों का सुराग नहीं लगा पायी पुलिस

doctor-ravi-bhushan-sharma-from-gajraula

सपा नेता तथा नर्सिंग होम संचालक डा. रविभूषण शर्मा के बेटे के अपहरण का प्रयास करने वालों का चालीस दिन बाद भी कोई पता नहीं चल सका। बाद में अपराधियों के धमकी देने पर उनका फोन नम्बर भी पुलिस को दे दिया गया लेकिन उसके सहारे भी उनका कोई सुराग न लग पाना एक पहेली बनता जा रहा है। कई सत्ताधारी पार्टी के नेताओं द्वारा बैठक कर एसपी तक से इस बारे में बात की गयी लेकिन इस मामले में कोई भी प्रगति न होने से नागरिकों में भय का माहौल बनना शुरु हो गया है। डा. रविभूषण शर्मा का कहना है कि सपा कार्यकर्ताओं और चिकित्सकों की बैठकों के बाद धमकी भरी कॉल आनी बंद हो गयी हैं।

उल्लेखनीय है कि सयुस उपाध्यक्ष तथा जयशिव नर्सिंग होम के संचालक डा. रविभूषण शर्मा के पांच वर्षीय बेटे को छह नवम्बर को दो मोटरसाइकिल सवारों ने उस समय अपहृत करने का प्रयास किया था जब वे अपनी कार से उसे विश्वबंधु एकेडमी के गेट पर छोड़कर वापस होने वाले थे।

वहां मौजूद लोगों तथा डा. शर्मा के प्रयास से अपहरणकर्ता अपने प्रयास में सफल नहीं हो सके थे और बच्चे को वहीं छोड़कर बाइक से भाग गये थे। तभी इस घटना की रिपोर्ट थाने में अज्ञात अपहर्ताओं के खिलाफ दर्ज करा दी गयी थी।

इसके दस दिन बाद 16 नवम्बर को डा. शर्मा के फोन पर कई बार कॉल कर अज्ञात लोगों ने उनसे धन की मांग की और ऐसा न करने पर खतरनाक परिणामों की धमकी तक दे डाली।

पहले तो डा. शर्मा ने इसे अनसुना किया लेकिन कई बार ऐसा होने पर उन्होंने फोन नंबर पुलिस को दिया तथा फोनकर्ता का पता लगाने का प्रार्थना पत्र थाने में दिया।

उन्होंने पुलिस से अपनी तथा परिवार की सुरक्षा की मांग भी की। इसी सिलसिले में सपा युवजन सभा के जिलाध्यक्ष फैसल अल्वी की अध्यक्षता में नर्सिंग होम पर संगठन की एक बैठक भी हुई।

बैठक में इस घटना की निन्दा के साथ ही पुलिस से आरोपियों को तुरन्त गिरफ्तार करने की मांग की गयी। बैठक में पुलिस अक्षमता पर रोष व्यक्त करते हुए निर्णय लिया गया कि घटना का खुलासा होने में अधिक देर की गयी तो सपा द्वारा धरना और प्रदर्शन किया जायेगा।

बैठक के बाद उसी दिन मौजूदा सपा नेता एसपी से मिले और घटना के शीघ्र खुलासे की मांग की। इस दौरान मुलायम सिंह यूथ ब्रिगेड के जिलाध्यक्ष साजिदभाई और सपा नगर अध्यक्ष डा. आशुतोष भूषण शर्मा भी साथ थे।

इसी दौरान नगर के वरिष्ठ चिकित्सक डा. श्याम सिंह के क्लीनिक पर नगर के चिकित्सकों की एक बैठक हुई जिसमें उक्त घटना की निन्दा करते हुए अपराधियों को शीघ्र पकड़ने और डॉक्टरों की सुरक्षा की मांग की गयी।

परन्तु अभी तक अपराधियों को पकड़ना तो दूर की बात है, उनका सुराग तक नहीं लग सका।

डा. शर्मा और उनके परिवार की सुरक्षा का भी कोई प्रबंध तक नहीं किया गया है। उन्होंने एक बार फिर अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग दोहरायी है।

-टाइम्स न्यूज गजरौला.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.