Header Ads

दो बच्चों की पॉलिसी अगले साल से शुरु

china-two-child-policy-to-be-called-in-2016-january

चीन ने एक बच्चे की अपनी पॉलिसी समाप्त कर दी है। इससे वे चीनी नागरिक काफी खुश हैं जो चाहते थे कि उनके एक नहीं, दो बच्चे होने चाहिएं।

वैसे वहां सरकार ने पिछले साल यह घोषणा की थी कि वन चाइल्ड पॉलिसी को समाप्त किया जायेगा।

एक तरह से देखा जाये तो यह चीनी नागरिकों के लिए नये साल का तोहफा भी होगा। 1 जनवरी 2016 से चीनी दो बच्चे पैदा कर सकते हैं। अब उनपर रोक नहीं होगी। लेकिन उससे ज्यादा बच्चा पैदा करने पर रोक बरकरार है।

1970 में चीन ने कड़ा कदम उठाया था। तब एक बच्चे से ज्यादा पर पाबंदी लगा दी गयी थी। उसका पालन सख्ती से किया गया। लोगों पर जुर्माना लगाने का प्रावधान भी था। महिलाओं का कई मामलों में गर्भपात तक कराया जाता था।

ग्रामीण क्षेत्रों में उन परिवारों में छूट दी गयी थी जिन्हें पहले से एक लड़की है।

वन चाइल्ड पॉलिसी से चीन को ऐसा नहीं कि फायदा नहीं हुआ। उसने लगभग 40 करोड़ आबादी की बढ़ोतरी रोकी। लेकिन इससे एक बड़ा खतरा यह पैदा हो गया कि काम करने वाले लोग घट गये। उम्रदराज अधिक हो गये।

शुरुआत में जिस तरह इससे अर्थव्यवस्था ने कुलांच मारी, बाद में वह सुस्त होती गयी।

इसलिए अब चीन ने बहुत सोच-विचार कर उसे पॉलिसी को खत्म करने का निर्णय लिया।

भारत के लिए दो बच्चों की पॉलिसी बहुत काम की हो सकती है, लेकिन यहां स्थिति बहुत बदली हुई है। यहां तो आबादी को बढ़ने से रोकने के लिए सरकार की तरफ से कोई कदम नहीं उठाया जा रहा। वोट बैंक के कारण यह सब हो रहा है। बात बार-बार चलती है कि कोई ऐसा नियम बनाया जाये जिससे घटते संसाधनों और बढ़ती जनसंख्या पर नियंत्रण किया जा सके।

-टाइम्स न्यूज़.

गजरौला टाइम्स के ताज़ा अपडेट प्राप्त करने के लिए हमारे फेसबुक पेज से जुड़ें.