Header Ads

भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज : इस बार यदि हार हुई तो सीधे चीर हरण हो जायेगा

भारत-ऑस्ट्रेलिया सीरीज : इस बार यदि हार हुई तो सीधे चीर हरण हो जायेगा
cricket india and australia

भारत के लिए क्रिकेट की बात बेकार लग रही है। भारतीय क्रिकेट टीम लगातार पराजित होने का रिकॉर्ड बनाने की ओर बढ़ रही है। ऐसा लगता है जैसे उसके कपड़े नाम-मात्र के बचे हैं जिन्हें बाकी दो मैचों में मेजबान कहीं उन्हें भी उतार न फेंके। ऐसे अंदेशे हर वह फैन लगा रहा है जिसकी रुचि क्रिकेट के अलावा और कुछ नहीं।

बुधवार का मैच पांच मैचों की सीरीज का चौथा वनडे होगा। ऑस्ट्रेलिया पहले ही 3-0 से आगे चल रहा है।

लेकिन भारतीय टीम के तकनीकी निदेशक रवि शास्त्री को हार से अधिक फर्क नहीं पड़ता। वे आराम से कह देते हैं कि टीम के खेलने का अंदाज सही है। इन परिणामों से घबराहट नहीं पैदा होनी चाहिए।

वे तो कह रहे हैं कि गेंदबाज यहां सीख रहे हैं। ऐसा लगता है जैसे ये उनके पहले मैच हों। जबकि ज्यादातर गेंदबाज बहुत अनुभवी हैं।

जब दिग्गज ऐसे कहें, तो फिर टीम क्यों न बदहाल खेल दिखाये?

धोनी की कप्तानी लगातार बेदम साबित हो रही है

कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी पिछले तीन सिरीज का लेखा-जोखा देखते होंगे तो उनके मन में उथलपुथल जरुर होती होगी। भारत उनकी कप्तानी में तीन सीरीज लगातार हार चुका है।

पहले बांग्लादेश से उसके घर में हारा। तीन मैच की सिरीज 2-1 से हारना निराश करता है।

दक्षिण अफ्रीका से भारत 3-2 से हारा।

ताजा सिरीज हार ऑस्ट्रेलिया से हुई है। भारत मेजबान से 3-0 से हारा हुआ है।

कितना निराशाजनक प्रदर्शन है।

लाज बचानी है तो ठोस रणनीति चाहिए

उम्मीद लगायी जा रही है कि इतनी हार के बाद टीम के कप्तान और उनके साथियों ने सबक लिये होंगे।

यदि इस बार हार हुई तो टीम का चीरहरण ही हो जायेगा। लाज बचानी है तो ठोस रणनीति से काम करना होगा।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए एम.एस. चाहल.