बिजली आपूर्ति ऐसी लड़खड़ायी फिर सुधरी ही नहीं

बिजली आपूर्ति ऐसी लड़खड़ायी फिर सुधरी ही नहीं

बिजली की समस्या से गजरौला को जूझना पड़ रहा है। तय शैड्यूल अब किसी काम का नहीं रहा। लोगों का कहना है कि बिजली विभाग अपनी मर्जी से बिजली उपलब्ध कराता है, उसका किसी शैड्यूल या आदेश से कोई मतलब नहीं। ये सब दिखावे की बात है।

गजरौला ही नहीं पूरे अमरोहा जिले में बिजली को लेकर लोग परेशान हैं। किसानों को इससे सबसे ज्यादा दिक्कत आ रही है। उन्हें फसलों को पानी देना है।

रविवार के दिन तो बिजली दिनभर गायब रही। बिजली विभाग से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि केबिल फुंक गया है। वे दिन भर मरम्मत का बहाना करते रहे। बाद में बताया गया कि वैकल्पिक व्यवस्था की जा रही है।

गजरौला के लिए बिजली विभाग ने एक शैड्यूल बनाया था। उसके मुताबिक यहां 20 घंटे आपूर्ति होनी चाहिए। हुआ उसके विपरीत। 31 दिसंबर तक तो जैसे-तैसे बिजली व्यवस्था चलती रही। लेकिन तब भी 20 घंटे के बजाय 15-16 घंटे ही बिजली मिली। नये साल की पहली तारीख से तो हालात खराब हो गये। आपूर्ति लड़खड़ायी कि फिर संभली नहीं। आजकल 8 या 10 घंटे बिजली आपूर्ति हो रही है।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.

No comments