Header Ads

ये काम कांग्रेस कर सकती है, लेकिन भाजपा नहीं

ये-काम-कांग्रेस-कर-सकती-है-लेकिन-भाजपा-नहीं

कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी के बेटे अमित जोगी को पार्टी से 6 साल के लिए बाहर निकाल दिया है। वे कांग्रेस के मरवही सीट से विधायक हैं। उनपर पिछले साल हुए उपचुनाव में भाजपा के साथ फिक्सिंग का आरोप लगा था।

आरोप मुख्यमंत्री रमन सिंह के दामाद पुनीत गुप्ता पर भी लगा था, मगर हुआ कुछ नहीं।

ajit jogi ashutosh arun jaitely

कांग्रेस की कमेटी ने अजीत जोगी को भी पार्टी से छह साल के लिए निष्कासित करने का प्रस्ताव पारित किया है।

भाजपा के कई नेताओं पर गंभीर आरोप लगे हैं और अभी तक उन्होंने उनसे खुद को बचाया नहीं है। आरोपों का प्रहार जारी है। मगर भाजपा की ओर से किसी पर कार्रवाई नहीं की गयी।

कार्रवाई के लिए ज्यादा सोचने जरुरत महसूस नहीं की गयी

वो अलग बात है जो पार्टी के खिलाफ बोल रहा था उसपर कार्रवाई जल्दी कर दी जाती है। मसलन कीर्ति आजाद पर कार्रवाई के लिए ज्यादा सोचने और समझने की जरुरत महसूस नहीं की गयी। उन्हें भाजपा ने तुरंत पार्टी से निलंबित कर दिया।

कई बार राजनैतिक हलकों में कहा जाता है कि दूसरी पार्टियां आरोप लगने पर अपने वरिष्ठ नेताओं तक को बाहर करने से परहेज नहीं करतीं, मगर भाजपा ऐसी पार्टी बनती जा रही है जो आरोप लगे नेताओं को पाक साफ करने की बात कहते नहीं थकती।

सुष्पमा स्वराज से शुरु होकर यह गिनती वित्त मंत्री अरुण जेटली तक पहुंचती है।

तभी पीएम मोदी सभाओं में बहुत आसानी से कह देते हैं कि अभी तक इस सरकार के किसी मंत्री पर कोई भ्रष्टाचार आदि का कलंक नहीं लगा। शायद वे भी जानते हैं कि यदि किसी को मंत्री या नेता को पार्टी से बाहर किया तो पार्टी की बदनामी होती है। मगर वे यह भी भूल जाते हैं कि इससे पार्टी की छवि पर जनता के बीच भी कोई अच्छा संदेश नहीं जाता।

-एम.एस. चाहल.