Header Ads

ब्लॉग : पाकिस्तान की दोस्ती या कुछ ओर?

ब्लॉग-पाकिस्तान-की-दोस्ती-या-कुछ-ओर?

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से फोन पर बातचीत हुई है। नवाज ने मोदी से कहा कि भारत की सरकार पठानकोट हमले को लेकर बहुत गंभीरता से काम कर रही है।

इसके लिए उन्होंने पीएम मोदी की तारीफ की और कहा कि जो सुराग भारत उन्हें उपलब्ध करायेगा उसपर पाकिस्तान अपनी ओर से पूरी मदद करने को तैयार है।

शरीफ का कहना कि 'उन्हें सुराग उपलब्ध करायें वे मदद करेंगे’ यह थोड़ा संशय में डालता है। पीछे भी कई बार पाकिस्तान को अहम दस्तावेज उपलब्ध कराये गये हैं, लेकिन हुआ कुछ नहीं।

मुंबई के हमले हों या दूसरे चरमपंथी अटैक पाकिस्तान का रुख भारत के प्रति साफ नहीं रहा। उसने कहा कि वह सहयोग करेगा, पर बाद में स्थिति उसके उलट हो गयी।

इस बार भी नवाज के रुख से ऐसा ही प्रतीत हो रहा है।

नवाज इतना तो मानते हैं कि चरमपंथी उन्हें भी परेशान कर रहे हैं। जब भी भारत और पाकिस्तान के संबंधों में नरमी आने को होती है, तभी चरमपंथी बीच में आ जाते हैं।

यह केवल उनका मानना हो सकता है, लेकिन लगता है असलियत कुछ ओर ही है। तभी पाकिस्तान की सरकार मोटे तौर पर सहयोग की बात करती है, अंदरखाने उसकी सोच कुछ ओर हो सकती है।

रक्षामंत्री मनोहर परिक्कर ने कहा है कि तलाशी अभियान अभी जारी रह सकता है। सेना अपनी तरफ से किसी प्रकार की कोई ढील नहीं बरतना चाहती।

-मोहित सिंह.