Header Ads

जो कभी पाकिस्तानी थे, अब भारत के नागरिक बन जायेंगे

जो-कभी-पाकिस्तानी-थे-अब-भारत-के-नागरिक-बन-जायेंगे

गृह मंत्रालय ने छानबीन के बाद 127 लोगों को भारत की नागरिकता देने का फैसला लिया है। ये सभी पाकिस्तानी थे।

लखनऊ से खबर के मुताबिक देश के विभाजन के समय कई लोग पाकिस्तान में जाकर बस गये थे। उनमें हिन्दू भी भारी संख्या में थे। अब पाकिस्तान उनका अपना मुल्क हो गया था। भारत को वे पड़ोसी देश कह सकते थे लेकिन उनकी जड़ें भारत में मौजूद थीं।

पाकिस्तान में उनकी स्थिति धीरे-धीरे दयनीय होने लगी। उनपर पाकिस्तान छोड़ने के लिए दबाव बनाया जाने लगा। उनके धार्मिक क्रियाकलापों पर बंदिशें होने लगीं। आखिरकार दशकों तक जलालत और दहशत में जीने के बाद वे लोग किसी तरह भारत लौट आये।

यहां उनके रिश्तेदार थे। वे लोग पाकिस्तान से आये थे, लेकिन हिन्दुस्तान के वासी हो गये थे। कानून उन्हें इजाजत नहीं देता था तो उसके लिए उन्होंने भारत की नागरिकता के लिए आवेदन दिये।

पता चला है कि एलआइयू ने कहा है कि 110 लोगों को नागरिकता गृह मंत्रालय की संस्तुति के साथ जल्द मिल सकती है। बाकी 17 लोगों के कागजातों की कमियों को पूरा किया जायेगा। उसके बाद उन्हें भी जल्द नागरिकता मिल सकती है।

उत्तर प्रदेश के रामपुर में पिछले साल एक मुस्लिम महिला को भारत की नागरिकता मिली थी। उसके लिए उसे सालों का इंतजार करना पड़ा था।

विजिटर वीजा पर भारत आये 13 मुस्लिम भी भारत की नागरिकता के लिए आवेदन कर चुके हैं। खबर है कि उन्हें भी सरकार भारत में रहने की सौगात दे सकती है।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए एम.एस. चाहल.