Header Ads

महबूब की सियासत में तुर्क भी चाहते हैं हिस्सा : जोया प्रमुखी पर दावा ठोका

महबूब-की-सियासत-में-तुर्क-भी-चाहते-हैं-हिस्सा

कैबिनेट मंत्री महबूब अली के परिवार पर एक पखवाड़े में दूसरा राजनैतिक संकट आने को तैयार है। जिला पंचायत छुड़वाने के बाद उनके परिवार को जोया ब्लॉक प्रमुखी से भी रोके जाने की तैयार हो गयी है। महबूब अली अपने भतीजे जुल्फिकार अली को फिर से जोया ब्लॉक प्रमुख बनवाने की तैयारी कर चुके हैं लेकिन उनका दशकों से समर्थन करती आ रही तुर्क बिरादरी ब्लॉक प्रमुख की मांग पर अड़ गयी है। इसने एक बार फिर महबूब अली का सिरदर्द बढ़ा दिया है। वे अभी मिली मिलायी जिला पंचायत की कुर्सी के जाने से हुए दर्द से भी निजात नहीं पा सके थे कि तुर्किस्तान से आये दबाव ने उनकी बेचैनी और बढ़ा दी।

तुर्क बिरादरी के सरदारों ने जिनमें जोया नगर पंचायत अध्यक्ष मोहम्मद यामीन और पूर्व विधायक मुन्ना आकिल भी शामिल थे, एक बैठक जोया के एक होटल में जुमे के दिन की।

बैठक में बिरादरी के समझदार लोगों का कहना था कि मामूली आदमी से उत्तर प्रदेश की सत्ता के जिस अहम पद तक महबूब अली पहुंचे हैं, उसमें तुर्क बिरादरी का भी अहम रोल है। बिरादरी लंबे समय से मंत्री का हर संभव समर्थन कर पूरा साथ देती आ रही है। इसलिए यदि राजनैतिक ताकत में वह अपना हक मांगें तो यह जायज है। साथ ही आगे और भी मजबूती से सियासी ताकत हासिल करने में सहूलियत होगी।

ब्लॉक प्रमुख के लिए मुन्ना आकिल का भतीजा

बिरादारी ने फैसला किया कि मंत्री से ब्लॉक प्रमुख पद की दावेदारी की जायेगी। यह तुर्कों का वाजिब हक है। लोगों ने मुन्ना आकिल के भतीजे उस्मान अली का नाम सर्व सम्मति से ब्लॉक प्रमुख के लिए आगे किया है।

देखते हैं महबूब अली इस परिस्थिति से कैसे निपटते हैं।

इस बैठक में जिला पंचायत सदस्य इफतेखार अली, चौ. रियाजुल हसन, जाहिद हुसैन एडवोकेट, मास्टर रुकने आलम, मो. हसन ठेकेदार, शमीम अहमद तुर्क, अब्दुल कलाम, अनवर वकील, रिजवान पाशा, शाहिद हुसैन, अंसार तुर्क, गय्यूर गजनी, शाकिर अली, रईस कल्लू, मिंजार एडवोकेट, मुनाजिर हसन एडवोकेट आदि तुर्क बिरादरी के सम्मानित लोग बड़ी तादाद में मौजूद थे।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम अमरोहा.