Header Ads

नवादा रोड नाला निर्माण प्रकरण : जांच के बाद और भी घटिया सामग्री लग रही है

नवादा रोड नाला निर्माण प्रकरण : जांच के बाद और भी घटिया सामग्री लग रही है

गजरौला में निर्माण कार्यो में मानक के अनुसार काम न होने के बार-बार आरोप लगे हैं। इ.ओ. और जे.इ. पर ठेकेदारों से सांठगांठ की चरचायें लगातार उठ रही हैं। कई बार शिकायतें भी हुई हैं।

जिला तथा तहसील स्तर से जांच भी की गयी है। मौके पर गड़बड़ी भी मिली है। लेकिन इस तरह के सभी मामले समाप्त हो गये। इस लिए अब लोगों को जांचकर्ताओं पर भी भरोसा नहीं रहा।

एसडीएम आजाद भगत सिंह के हड़काने के बाद तो ठेकेदार ने और भी घटिया सामग्री का प्रयोग शुरु कर दिया.

यही कारण है कि लोग भ्रष्टाचार होता देखते रहते हैं लेकिन शिकायत नहीं करते। इक्का-दुक्का शिकायतें ही होती हैं।

हाल ही में एसडीएम धनौरा पर नवादा रोड पर बन रहे नाले की शिकायत गयी थी। वहां पीली ईटों से नाला बनाया जा रहा है और फर्श पक्का नहीं किया जा रहा। सीमेंट और रेत का अनुपात भी मानक पूरा नहीं करता। मौके पर एसडीएम आजाद भगत सिंह पहुंच गये। जे.इ. को बुलाकर हड़काया और चले गये। उसके बाद ठेकेदार ने और भी घटिया सामग्री का प्रयोग शुरु कर दिया है। ईंटों में से उठाते रखते ही ज्यादातर टूट रही हैं।

नाला निर्माण में मानक के अनुसार माल नहीं

ठेकेदार का कहना है कि मानक के अनुसार माल नहीं लग सकता, चेयरमेन, इ.ओ., जे.इ. और सभासद तक सभी हिस्सा लेते हैं। शिकायत के बाद जांच करने वाले की सेवा नहीं हुई तो वह भी नाराज हो सकता है। यही कारण है कि जांच के बाद तो माल सही सलामत लगता ही नहीं।

नवादा रोड के नाले में लग रही सामग्री ठेकेदार की बात का प्रत्यक्ष प्रमाण है। एसडीएम की जांच और चेतावनी के बाद वहां सुधार के बाद और भी निम्न स्तरीय सामग्री लग रही है।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.