Header Ads

रेनू चौधरी बनीं अमरोहा की चौथी महिला जिला पंचायत अध्यक्ष

रेनू चौधरी बनीं अमरोहा की चौथी महिला जिला पंचायत अध्यक्ष

रेनू चौधरी ने अमरोहा जिले की चौथी महिला जिला पंचायत अध्यक्ष के तौर पर शपथ ग्रहण की। वे पूर्व मंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता चौ. चन्द्रपाल सिंह की पुत्रवधु हैं।

रेनू चौधरी को जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी तक पहुंचाने में चौ. चन्द्रपाल सिंह ने बहुत प्रयास किया है। उनके साथ ही दूसरे पार्टी के नेताओं ने भी एड़ी चोटी का जोर लगाया। उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री महबूब अली चाहते थे कि उनकी पत्नि सकीना बेगम अमरोहा के जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी पर बैठें।

रेनू चौधरी जिला पंचायत के वार्ड-25 से चुनावी मैदान में थीं।

पढ़ें : सपा में रस्सी खींच थी, लेकिन रेनू चौधरी जिला पंचायत अध्यक्ष बन गयीं

लेकिन ऐसा हुआ नहीं। महबूब अली की बात को समाजवादी पार्टी के हाइकमान ने अपनी रणनीति के तहत मानने से इंकार कर दिया। उसके बाद उनका अपनी पत्नि को दूसरी बार जिला पंचायत बनवाने का सपना पूरा नहीं हो सका और रेनू चौधरी जिला पंचायत अध्यक्ष बन गयीं।

रेनू चौधरी जिला पंचायत के वार्ड-25 से चुनावी मैदान में थीं। उनका मुकाबला महमूद अली भूरे के बेटे नवाजिस अली से था। उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी को 3546 वोटों से पराजित किया था।

रेनू चौधरी से पहले तीन महिलायें जिला पंचायत की कमान संभाल चुकी हैं

रेनू चौधरी से पहले तीन महिलायें जिला पंचायत की कमान संभाल चुकी हैं। रालोद नेता चौ. बलवीर सिंह की पत्नि इंदरावती सबसे पहली जिला पंचायत अध्यक्ष थीं। उनके बाद कांग्रेस से शिवस्वरुप टंडन को यह मौका मिला।

समाजवादी पार्टी ने सकीना बेगम को कुर्सी तक पहुंचाया। फिर बहुजन समाज पार्टी की उत्तर प्रदेश में सरकार आयी तो हेम सिंह आर्य की पत्नि कमलेश आर्य जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं। अमरोहा की पांचवी जिला पंचायत प्रमुख रेनू चौधरी हैं जो समाजवादी पार्टी से हैं। सबसे मजेदार बात यह है कि अमरोहा में हर बार नयी पार्टी से जिला पंचायत अध्यक्ष बने हैं। दोबारा किसी को मौका नहीं मिला। जबकि समाजवादी पार्टी की ओर से दूसरी बार कोई जिला पंचायत अध्यक्ष बन पाया है। इस बार भी सकीना बेगम मौका चूक गयीं, और रेनू चौधरी ने बाजी मार ली। वरना सकीना बेगम को दूसरी बार यह अवसर मिल जाता।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम अमरोहा.