Header Ads

शिक्षा का हाल : कहीं बच्चे कम, कहीं शिक्षक गायब

शिक्षा का हाल : कहीं बच्चे कम, कहीं शिक्षक गायब

राजकीय हाइस्कूल और इंटरमीडियेट कालेजों में खामियां मिल रही हैं। उनमें साफ-सफाई का तो प्रबंध नहीं, बल्कि शिक्षक भी समय से नहीं पहुंच रहे। बच्चों के बैठने की उचित व्यवस्था तक नहीं हो रही है। वे जमीन पर बैठकर पढ़ने को मजबूर हैं।

शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़ा : अभी और नाम आने बाकी हैं

अमरोहा में जिला विद्यालय निरीक्षक के निरीक्षण में स्कूलों की दशा बेहद खराब पायी गयी। वहां तीन बच्चे उपस्थित थे। जबकि पंजीकृत 93 बच्चे हैं। उन्होंने राजकीय हाइस्कूल चांदरा की प्रधानाध्यापिका सुनीता भाटिया को प्रतीकूल प्रविष्टि दी। सुनीता ने हाजिरी रजिस्टर में हस्ताक्षर नहीं किये थे। जब जिला विद्यालय निरीक्षक रविदत्त पहुंचे तो उसी समय उन्होंने हस्ताक्षर किये। विद्यालय में स्वच्छता पर विशेष ध्यान नहीं दिया गया था।

इसपर रविदत्त ने सुनीता भाटिया को प्रतिकूल प्रविष्टि दी। वे काफी नाराज दिखे।

राजकीय हाईस्कूल ढ्योटी में शिक्षा का स्तर ठीक नहीं मिला। वहीं राजकीय इन्द्रावती कन्या इंटर कालेज बछरायूं में बच्चे रेत पर बैठकर पढ़ते मिले।

रविदत्त ने वहां फर्नीचर उपलब्ध कराने के निर्देश दिये। एक शिक्षिका के बिना सूचना के पूर्व में अवकाश की जानकारी मिली तो विद्यालय निरीक्षक ने उसपर कार्रवाई करने की बात कही।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम अमरोहा.