Header Ads

शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़ा : अभी और नाम आने बाकी हैं

sarv-sikshan-abhiyaan-mission-amroha

शिक्षा विभाग में फर्जीवाड़े के मामले पहले भी सामने आते रहे हैं। फर्जी शिक्षा प्रमाण पत्र से नौकरी करने वाले अमरोहा जिले में पकड़े गये हैं। उनपर विभाग की तरफ से कार्रवाई हुई है। साथ ही रिकवरी भी की गयी है।

शिक्षा विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों तथा दलालों की वजह से इस तरह मामले सामने आ सकते हैं। नियुक्ति के दौरान जब प्रमाण पत्रों की गहनता से जांच की बात की जाती है तो चूक होने की बात करना सही नहीं है।

पढ़ें : फर्जी सर्टिफिकेट से कर रहे थे नौकरी, अमरोहा के चार शिक्षकों की सेवा समाप्त

अमरोहा में जिला विद्यालय निरीक्षक रविदत्त ने कहा कि शैक्षिक प्रमाण पत्रों के सत्यापन की रिपोर्ट आनी बाकी हैं।

ये उन शिक्षकों की जांच रिपोर्ट हैं जिनकी नियुक्ति हाल में हुई है। जबकि ताजा मामले में चार सहायक अध्यापक फर्जीवाड़े में फंस चुके हैं। उनकी सेवा समाप्त की जा चुकी है। उनपर कार्रवाई की तैयारी शिक्षा विभाग करने वाला है।

पहले भी हुआ है फर्जीवाड़ा

बेसिक शिक्षा विभाग में पूर्व में 11 शिक्षकों पर कार्रवाई हुई थी। उनके प्रमाण पत्र फर्जी थे। बाद में भी कई ऐसे मामले में सामने आये जब जांच में शिक्षकों का फर्जीवाड़ा पकड़ा गया।

लेकिन उन लोगों पर कार्रवाई नहीं हुई जो इसमें अलग से शामिल थे। क्योंकि खबरें हैं कि शिक्षा विभाग के कुछ अधिकारी और कर्मचारी दलालों से सांठगांठ कर फर्जीवाड़े को अंजाम दे रहे हैं।

शिक्षा विभाग को अपने कारिंदों पर भी पैनी नजर रखनी चाहिए ताकि दूसरों की नौकरी से खिलवाड़ न किया जाये।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए मोहित सिंह.