Header Ads

उत्तर प्रदेश में जल्द गुलजार होंगे सिंगल स्क्रीन वाले सिनेमाघर

single-screen-cinema-hall-house

सिंगल स्क्रीन के सिनेमाघर सिमटते जा रहे हैं। पिछले कुछ सालों में वे खामोश हो गये हैं। जो बचे भी हैं वे अंतिम सांसे गिन रहे हैं। मल्टीप्लेक्स के आने से सिंगल स्क्रीन सिनेमा देखने वालों की तादाद कम होती गयी। नतीजा हुआ कि ऐसे सिनेमाघर बंद हो गये।

अकेले उत्तर प्रदेश में 700 से अधिक एक पर्दे के सिनेमाघर पिछले कुछ सालों में बंद हो गये थे। प्रदेश की सरकार ने अब उन्हें फिर से चालू करने की सोची है। उसके लिए सरकार द्वारा कवायद शुरु हो रही है।

मनोरंजन कर राज्यमंत्री मदन चौहान ने सिनेमाघरों के मालिकों से बात की है। बातचीत में कई मुद्दे उठाये गये। इसके लिए मदन चौहान ने उनसे सुझाव मांगे हैं। वे बैठकर विचार करेंगे और जल्द ही सिनेमाघरों के लिए रियायतें पेश करेंगे।

माना जा रहा है कि मनोरंजन कर विभाग को इससे काफी नुकसान हुआ है। यदि सिनेमाघर चालू हो जाते हैं कि तो उसकी आय में इजाफा होगा तथा दर्शकों को फिर से वे लुभाने लगेंगे।

कई सिनेमाघर दूसरे कामों जैसे गोदाम, आदि के लिए इस्तेमाल होने शुरु हो गये थे।

खबर है कि उत्तर प्रदेश में सिनेमाघरों को अनुदान देकर फिर से खोला जायेगा।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम.