Header Ads

जेएनयू मसले पर नीतीश ने पीएम मोदी से पूछा कि उनकी निगाह में देशद्रोह की परिभाषा क्या है?

nitish-kumar-on-JNU

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पूछा है कि उन्हें देश की जनता को बताना चाहिए कि उनकी निगाह में देशद्रोह की परिभाषा क्या है? उन्होंने कहा है कि जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष कन्हैया कुमार के खिलाफ पुलिस भी देशद्रोह के सबूत नहीं जुटा सकी, जबकि मामले को कई दिन बीत गये, फिर देशद्रोह का आरोप कैसा?

नीतीश कुमार ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी दूसरे मुद्दों से जनता को भटकाना चाहती है। इसलिए वह ऐसे मुद्दे लेकर आ रही है जिनका विकास से कोई लेना देना नहीं है।

उन्होंने कहा कि भाजपा ने जबरन जेएनयू के मुद्दो को उछाला है जिससे लोगों का ध्यान मोड़ा जा सके। उन्होंने भाजपा को विकास के मोर्चे पर विफल बताते हुए कहा कि वह विकास के हर मोरचे पर विफल है।

उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्र सरकार जेएनयू जैसी शिक्षण संस्थाओं को खत्म करना चाहती है। जेएनयू में भाजपा की विचारधारा को न मानने वालों की संख्या बढ़ती जा रही है। इसलिए वह अपने विचारों को थोपने के लिए यह सब कर रही है।

नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में जंगलराज के आरोप लगाते हैं, लेकिन पटियाला हाउस कोर्ट में जो हुआ वह क्या था?

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए मोहित सिंह.