Header Ads

'देशभक्त’ और 'देशद्रोही’ आमने-सामने : देश में ये कौन सी बयार चल निकली है?

op-sharma-bjp-vidhayak

देश में देशभक्ति की बयार चल निकली है। कुछ लोगों ने तो देशभक्ति का वाकायदा ठेका ले रखा है। ऐसा वे सरेआम कहते भी फिर रहे हैं। ऐसे देशभक्तों को नमन!

जेएनयू विवाद गहराता जा रहा है। उसके पीछे राजनीतिक ताकतें सक्रिय भूमिका निभाने में तल्लीन हैं। कुछ कथित देशभक्त घूम रहे हैं और घूम-घूमकर कह रहे हैं कि वे देशद्रोह नहीं होने देंगे। ऐसा लगता है जैसे भारत फिर से गुलाम हो गया हो, और देशभक्त भारत को गुलामी की जंजीरों से निकालने के लिए संघर्ष कर रहे हों।

यह हाल तब है जब भारत में बहुमत की सरकार है। ऐसा प्रचंड बहुमत मिलना आसान नहीं था। सत्ता की ताकत को सरकार अच्छी तरह जानती है। चर्चा है कि मौन साधकर और दूर से देखकर ही काम चलाया जा रहा है।

दूसरी पार्टियां भाजपा पर राजनीति करने के गंभीर आरोप लगा रहे हैं। सीधी सी बात है राजनीतिक लोग राजनीति नहीं करेंगे तो क्या आम आदमी करेगा?

सवाल वहां भी पूछे जा रहे हैं कि राहुल गांधी जेएनयू कैंपस में आनंद शर्मा एंड पार्टी के साथ क्या कर रहे थे?

उधर से भी सवाल दागा गया कि साध्वी प्राची क्या विश्वविद्यालय में पढ़ाई करने आयी थीं या उनकी परीक्षा थी?

तभी पता चलता है कि एक वीडियो जो वायरल हो जाता है, उसमें भाजपा के दिल्ली से विधायक ओपी शर्मा एक शख्स को पीटते हुए दिखाये जाते हैं।

ओपी शर्मा से जब सवाल किया जाता है कि क्या आपने देशभक्ति का ठेका ले रखा है? तो उनका सपाट जबाव होता है,'हां, ले रखा है।’

यह हमारे देश के देशभक्त नेता हैं। ये सरेआम लोगों को पीट सकते हैं क्योंकि इन्होंने देशभक्ति का ठेका ले रखा है।

जो पिट रहे हैं वे कथित तौर पर पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी कर रहे हैं।

ऐसा पहली बार देखने को मिल रहा है कि कथित 'देशभक्त' और कथित 'देशद्रोही' आमने-सामने हैं। राजनीति उठापठक के बावजूद हमारे प्रधानमंत्री हर मामले में बहुत मुखर होते हुए भी इस मामले में देश के नाम शांति की कोई अपील करते दिखायी नहीं देते?

-हरमिन्दर सिंह.