Header Ads

किसान बेचारा क्या करे जब गोपाल शेट्टी ये कहें : 'किसान की आत्महत्या फैशन और चलन बन गया है’

gopal-shetty-on-farmers

उधर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मध्य प्रदेश में किसान फसल बीमा योजना की शुरुआत की। इधर भाजपा के एक सांसद गोपाल शेट्टी ने किसानों की भावनाओं को आहत करने वाला बयान दे डाला।

सांसद शेट्टी बोले कि आत्महत्या किसानों में फैशन बन गया है।

शेट्टी उत्तर मुंबई से भारतीय जनता पार्टी से सांसद हैं। उन्होंने बोरीवली में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि किसानों की आत्महत्या सिर्फ भूख और बेरोजगारी से नहीं हुईं हैं, किसानों में फैशन और चलन बन गया है।

उन्होंने आगे कहा कि एक सरकार किसान को पांच लाख देती है, अन्य सरकार सात या आठ लाख देगी। किसानों को पैसे देने की प्रतियोगिता चल रही है।

विपक्ष को उनका यह बयान नागवार गुजरा।

कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने कहा कि किसान इस समय बुरी तरह जूझ रहा है और शेट्टी किसानों के प्रति असंवेदनशील बयान दे रहे हैं। वे उनकी आत्महत्या को फैशन कह रहे हैं।

भारतीय जनता पार्टी पर किसानों के प्रति संवेदनहीन होेने के आरोप पहले भी लगते रहे हैं। महाराष्ट्र में जनवरी से आधी फरवरी तक के आंकड़े बताये जा रहे हैं कि इस दौरान 100 से अधिक किसान आत्महत्या कर चुके हैं। पिछले साल पूरे भारत में हजारों की संख्या में किसान फसल बर्बाद, कर्ज आदि के बोझ के कारण फांसी के फंदे पर झूल गये बताये गये थे।

विपक्ष आरोप लगाता रहा है कि भाजपा किसानों को जड़ से मिटाना चाहती है। किसानों की जमीन कब्जाने के लिए नये हथकंडे अपनाने के भी भाजपा पर आरोप लगते रहे हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए मोहित सिंह.