Header Ads

किसानों को फिर मिला आश्वासन, लेकिन 15 दिन में कौन-सा तीर मार लेंगे अखिलेश यादव?

अखिलेश-यादव

एक दिन में किसान उग्र हुए, जाम लगाया, सड़कें रोक दीं। उनकी मांगों पर सुनवाई पहले नहीं हुई तो वे सड़कों पर उतरे। उत्तर प्रदेश में जगह-जगह उन्होंने हाइवे जाम किये।

उत्तर प्रदेश सरकार पर किसान विरोधी होने का आरोप लगाया। ऐसा नहीं है कि उन्होंने केवल अखिलेश यादव के खिलाफ अपने सुर लगाये, वे प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भी उतना ही जिम्मेदार ठहरा रहे हैं।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा है कि मुख्यमंत्री ने अगले 15 दिन में किसानों की समस्याओं को हल करने का आश्वासन दिया है।

इसपर किसान कितना भरोसा करेगा, यह हर किसी को पता है। आश्वासन पहले भी खूब दिये गये हैं। झोली भर-भर आश्वासन दिये गये हैं, वादे भी अनगिनत हो रहे हैं और अब भी जारी हैं।

किसान का सरकारों पर से भरोसा पूरी तरह उठ चुका है। वे अखिलेश यादव से सवाल पूछ रहे हैं कि आप चार साल तक कहां थे? साथ ही यह भी पूछ रहे हैं कि आपने मिल मालिकों पर मेहरबानी कर दी, मगर किसान खाली हाथ रहे।

ऐसा लगता है कि इस बार भी आश्वासन ही रहेगा, होगा कुछ नहीं। वैसे भी अबतक कुछ किया नहीं गया, 15 दिन में अखिलेश यादव कौन-सा तीर मार लेंगे?

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए एच.एस. चाहल.