Header Ads

ललित हत्याकाण्ड का खुलासा नहीं : गजरौला के व्यापारियों में भययुक्त रोष व्याप्त है

ललित-कुमार-अग्रवाल

महाजन बस्ती निवासी ललित कुमार अग्रवाल के हत्यारों का पुलिस अभी तक कोई पता नहीं लगा सकी। शनिवार को पुलिस अधीक्षक संजीव त्यागी और सीओ सिटी शीलकुमार ने घटना स्थल पर जाकर मौका मुआयना किया और मृतक के करीबी लोगों से जानकारी ली। दोनों अधिकारी पुलिस को वारदात के शीघ्र खुलासे का आदेश देकर चले गये।

चार फरवरी को ललित कुमार की उसके घर के पास बाइक सवार दो बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। तीन फायर झोंककर हत्यारे फरार हो गये थे।

दो गोलियां ललित को लगी थीं जिससे वह मौके पर ही ढेर हो गया था। वारदात के चन्द मिनट में ही मौके पर पुलिस पहुंच गयी थी।

एएसपी भी घटनास्थल पहुंचे थे और तुरंत मौका मुआयना कर जांच टीमें गठित कर हत्यारों का पता लगाने का काम शुरु कर दिया था।

पूरे जनपद की पुलिस को सतर्क कर कई स्थानों पर सघन तलाशी अभियान चलाया गया था। जारी अभियान के बावजूद पुलिस अभी तक इस संबंध में कोई सुराग नहीं लगा पायी।

व्यापारियों में भययुक्त रोष व्याप्त

ललित हत्याकांड से व्यापारी वर्ग में बेहद रोष है। दुकानदारों ने शनिवार को एसपी के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था की बदहाली से नाराज होकर अपनी दुकानें बंद कर दी थीं। तब एसपी ने मौके पर जाकर लोगों को शीघ्र हत्यारों को पकड़ने का आश्वासन देकर हालात को संभाला था।

ललित अग्रवाल की हत्या के पीछे पेशेवर शूटरों के हाथ की संभावना जताई जा रही है। जिसमें किसी हवाला व्यापारी का काम भी हो सकता है। क्योंकि ललित लंबे-चौड़े हवाला कारोबार से भी जुड़ा था।

पुलिस की प्रारंभिक तफतीश इसी आधार पर चल रही है। परंतु जांच अभी किसी नतीजे पर नहीं पहुंची। व्यापारी शीघ्र खुलासा चाहते हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.