Header Ads

महबूब अली की राजनीति : पत्नि, भतीजे के बाद अब बेटे को एमएलसी बनाने की मजबूत तैयारी

महबूब-अली-के-बेटे-परवेज-अली

समाजवादी पार्टी के कैबिनेट मंत्री महबूब अली के बेटे परवेज अली एमएलसी चुनाव के लिए मुरादाबाद-बिजनौर सीट से चुनावी मैदान में हैं।

महबूब अली ने मुरादाबाद में पार्टी कार्यालय पर कहा कि समाजवादी पार्टी के सभी नेता और कार्यकर्ता चुनाव में पूरी ताकत से जुट जायें। नामांकन की तारीख करीब आ गयी है। इसके लिए भी तैयारियां कर ली गयी हैं।

परवेज अली 11 फरवरी को एमएलसी चुनाव के लिए अपना नामांकन करायेंगे। पार्टी की ओर से उस दिन पंचायत भवन से एक जुलूस निकाला जायेगा। यह दिखाने की कोशिश होगी कि परवेज अली कितने मजबूत हैं।

एमएलसी के लिए अपने बेटे का नाम घोषित हो जाने बाद महबूब अली के समर्थकों में खुशी का माहौल है। पूर्व में जब उनकी पत्नि जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए घोषित की गयीं और चौबीस घंटे में ही पूर्व कैबिनेट मंत्री चन्द्रपाल सिंह की पुत्रवधु को खड़ा किया गया तो महबूब अली के खेमे में मायूसी छा गयी थी। मगर सपा हाइकमान ने उन्हें भरोसा दिलया था कि उनके लिए उनके पास एक सौगात है। उनके बेटे परवेज अली को एमएलसी के लिए सपा का प्रत्याशी घोषित कर दिया गया। इस जीत के साथ ही महबूब अली का राजनीतिक कुनबा और बड़ा हो जायेगा।

महबूब-अली-उत्तर-प्रदेश

खुद महबूब अली उत्तर प्रदेश सरकार में रेशम एवं वस्त्र उद्योग मंत्री हैं। उनकी पत्नि जिला पंचायत की सदस्य हैं। उनके भतीजे जुल्फिकार अली तीसरी बार जोया के ब्लॉक प्रमुख बन गये हैं। अब उनके बेटे परवेज अली एमएलसी बन सकते हैं।

हालांकि इससे उनके अपने पार्टी में ही पहले भी विरोध के सुर उठे हैं। उनकी आवाज कभी कम थी तो कभी अंदरखाने ही रही। मगर इस बार विधानसभा चुनावों में स्थिति को पलटने के लिए उनके प्रतिद्वंदी इंतजार कर रहे हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए हरमिन्दर सिंह.