Header Ads

पीएसीएल के खिलाफ तहरीर, स्थानीय ब्रांच से मैनेजर नदाराद हैं

pacl-fraud-india-company

एक निजि इंन्वेस्ट कंपनी ने पालिसी धारक परिपक्वता समयावधि संपन्न होने के बाद भुगतान नहीं किया। पालिसी धारक ने कंपनी के खिलाफ थाने में तहरीर दी है। पालिसी 15 फरवरी को पूरी हो चुकी है। उधर स्थानीय ब्रांच से मैनेजर नदाराद हैं तथा मौजूद कर्मचारी कुछ भी करने से स्वयं को असमर्थ बता रहे हैं।

ग्राम मोहरका पट्टी निवासी शाहबुद्दीन पुत्र फारुख अली के अनुसार उन्होंने रेलवे फाटक 45-सी के पास पीएसीएल इंडिया लि. नामक इन्वेस्ट कंपनी के ब्रांच ऑफिस के जरिये 15 फरवरी 2010 में एक पॉलिसी खरीदी थी। जिसकी कुल जमा राशि 16428 रुपये किश्तों के रुप में जमा कर दी थी। वह ब्याज सहित 15 फरवरी तक इस साल मिल जानी चाहिए थी।

बतौर शाहबुद्दीन वह ब्रांच कार्यालय कागज जमा कर पैसा लेने गये तो, मौजूद कर्मचारी ने कागज जमा करने और भुगतान से यह कहकर मना कर दिया कि सिस्टम बंद है। पता चला कि प्रबंधक भी गायब हैं। दरअसल सिस्टम दिल्ली मुख्यालय से ही बंद कर दिया गया है।

परेशान पॉलिसी धारक ने पैसा फंसने की आशंका से पूरे मामले की सूचना पुलिस को देने का मन बनाया तथा उसने कंपनी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने को थाने में तहरीर दी। इसकी सूचना प्रतियां डीएम और एसपी को भी भेजी हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.