arun-jaitely

भारतीय जनता पार्टी की बैठक में राष्ट्रीयता का मुद्दा छाया रहा। वित्त मंत्री अरुण जेटली का कहना है कि अभिव्यक्ति की आजादी का मतलब यह नहीं कि देश को क्षति पहुंचायी जाये। यदि ऐसा किया जाता है तो वह गलत है।

जेटली ने कहा कि देशभक्ति भी होनी चाहिए और अभिव्यक्ति की आजादी भी। दोनों साथ चलनी चाहिएं।

उन्होंने कहा कि हमें अपना विरोध दर्ज करना चाहिए। संविधान उसकी आजादी देता है। देश को तबाह करने की आजादी नहीं दी जा सकती। उसे हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।

भारतीय जनता पार्टी के पास मुद्दों की कमी का हवाला विपक्ष ने बार-बार दिया है। विपक्ष यह भी कहता आया है कि दूसरों मुद्दों से भटकाने के लिए भाजपा के नेता देशभक्ति और राष्ट्रहित की बात करते हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम के लिए अमित कुमार.