Header Ads

DEPENDRA MURDER GAJRAULA : कहीं हत्या को आत्महत्या न बना दिया जाये?

dependra-murder-gajraula

केएसके अकादमी के होनहार छात्र दीपेन्द्र की हत्या एक गहरी साजिश का परिणाम है। पुलिस इसे आत्महत्या ठहराने का हर संभव प्रयास कर रही है। दो सप्ताह बीतने पर चौतरफा दबाव के बाद पुलिस तफ्तीश आगे जरुर बढ़ी है लेकिन यह मानना आसान नहीं है कि पुलिस सच से पर्दा उठाना चाहती है।

स्कूल संचालक की धनशक्ति और अकादमी स्टाफ के किसी मजबूत सदस्य का गवाही न देना सच के खुलासे में अवरोध बने हैं तथा पुलिस मनघडंत कहानी के सहारे इस हत्या को आत्महत्या ठहराने के प्रयास में है।

लोगों के दीपेन्द्र के परिवार के समर्थन में सड़क पर उतरने और सपा के ताकतवर नेताओं के आगे आने से दो हफ्तों से शिथिल जांच में तेजी जरुर आयी है। कई छात्र संगठनों के प्रदर्शन और आंदोलन से भी पुलिस पर दबाव बना है। इन सबके कारण ही थाना गजरौला की पुलिस से यह जांच लेकर एसपी ने क्राइम ब्रांच को सौंपी थी।

बताया जा रहा है कि पुलिस ने अकादमी संचालक नरेन्द्र सिंह के बेटे तथा प्रबंधक रिंकू चाहल को पकड़ लिया है। उसे छात्र के आत्महत्या के लिए उकसाने का अभियुक्त बनाकर हत्या को आत्महत्या ठहराने का प्रयास किया जा रहा है।

यदि ऐसा किया गया तो क्षेत्र में असंतोष फैलेगा तथा लोग फिर से सड़कों पर उतर सकते हैं। छात्र संगठन तो इससे बहुत खफा हैं।

अखिल भारतीय विद्धयार्थी परिषद के साथ समाजवादी छात्र सभा भी आंदोलन में कूद पड़ी है। घटनास्थल के हालात लोगों को छात्र की हत्या की ओर स्पष्ट इशारे कर रहे हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम गजरौला.