horse-cart-tonga-race

हाइवे पर गत दिनों घोड़ा-तांगा दौड़ और सट्टेबाजी के बाद घिरने पर अतरासी चौकी इंचार्ज, एसओ रजबपुर और दो सिपाहियों पर कार्रवाई की गयी है। हाइवे पर तांगा दौड़ के लिए नियम-कायदे ताक पर रख दिये गये थे। ऐसा लग रहा था कि जैसे पुलिस-प्रशासन नाम की अमरोहा जिले में कोई चीज नहीं है।

एसपी डा. एस. चिनप्पा ने कहा है कि दरोगा और दो सिपाही सस्पेंड हुए हैं। इंस्पेक्टर रजबपुर की लापरवाही पता चली है। उन्हें लाइनहाजिर किया गया है। बाकी दोषियों पर जल्द कार्रवाई होगी।

जरुर पढ़ें : नेशनल हाइवे हथियारबंद सट्टेबाजों के हवाले


पुलिस ने 7 नामजद और 50 अज्ञात के खिलाफ मामला दर्ज किया है। तीन आरोपियों को पकड़ जा चुका है।

हाल में हाइवे को घोड़ा-तांगा दौड़ के लिए बाधित किया गया था। जाम की भयंकर स्थिति हो गयी थी। लोगों को दिक्कतों का सामना करना पड़ा। तांगा दौड़ पर सट्टा लगा था।

पुलिस और प्रशासन पर उसके बाद सवाल उठे थे। आरोप लगे थे कि जब हाइवे पर खुलेआम घोड़े दौड़ रहे थे और असलहे लहराये जा रहे थे, पुलिस कहां थी?

फजीहत होने के बाद कुछ पुलिसवालों पर कार्रवाई की गयी। ये हैं :
1. वली मोहम्मद (अतरासी चौकी इंचार्ज) : सस्पेंड किये गये.
2. अजीत रोरिया (एसओ रजबपुर) : लाइनहाजिर हुए.
3. सिपाही विपिन (अतरासी चौकी) : लाइहाजिर
4. सिपाही मोहित (अतरासी चौकी) : लाइनहाजिर.

रबजपुर थाना इंचार्ज के लाइहाजिर होने पर उनकी जगह एसओजी प्रभारी सुधीर त्यागी को कमान सौंपी गयी है।

चर्चा अभी भी है कि असली लोग अभी पकड़ से बाहर हैं।

-गजरौला टाइम्स डॉट कॉम अमरोहा.